उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मानना है कि अकबर से ज़्यादा महान महाराणा प्रताप थे. ऐसा उन्होंने महाराणा प्रताप जयंती पर हुए एक समारोह के दौरान कहा भी है.

योगी आदित्यनाथ के मुताबिक, ‘मुग़ल बादशाह अकबर महान नहीं थे. बल्कि महाराणा प्रताप ज़्यादा महान थे क्योंकि उन्होंने मुग़ल सेना का सामना करने का साहस दिखाया.’ उन्होंने कहा, ‘यह महत्वपूर्ण नहीं है कि हल्दीघाटी की लड़ाई कौन जीता. अहम ये है कि शक्तिशाली मुग़ल सेना के ख़िलाफ़ कौन खड़ा हुआ? महाराणा प्रताप ने वह साहस दिखाया, जो इतिहास में मिसाल है.’ आदित्यनाथ ने कहा, ‘अरावली की पहाड़ियों में कई साल तक महाराणा प्रताप और अकबर की सेनाओं में लड़ाई चलती रही. इसमें एक वक़्त ऐसा भी आया जब महाराणा प्रताप ने अपने सभी किले मुग़ल सेना से वापस ले लिए. इससे साबित हो गया कि अकबर नहीं बल्कि महाराणा प्रताप अधिक महान थे.’

ग़ौरतलब है कि अधिकांश इतिहासकारों का मानना है कि मुग़ल बादशाह अकबर की सेना ने 1576 में हल्दीघाटी की लड़ाई में महाराणा प्रताप को हरा दिया था. हालांकि इसके बावज़ूद योगी आदित्यनाथ का कहना था, ‘महाराणा प्रताप ने अपनी बहादुरी व साहस से इतिहास के विपरीत दौर में भी न सिर्फ़ अपने आत्मसम्मान बल्कि देश की भी रक्षा की. इसीलिए वे आज भी प्रासंगिक बने हुए हैं.’