टेलिकॉम कंपनी एयरटेल को ग्राहक सेवा के लिए एक महिला की हिंदू प्रतिनिधि की मांग स्वीकार करना भारी पड़ गया है. महिला ग्राहक का नाम पूजा सिंह है. उन्होंने ट्विटर के जरिये एयरटेल की डीटीएच सेवा पर नाराजगी जाहिर की थी. इस पर जब कंपनी के एक ग्राहक सेवा प्रतिनिधि ने पूजा को रिप्लाई किया तो उन्होंने यह कह कर बात करने से इनकार कर दिया कि वह मुसलमान है. शोएब नाम के इस प्रतिनिधि को रिप्लाई ट्वीट करते हुए पूजा ने कहा, ‘प्रिय शोएब. क्योंकि तुम एक मुस्लिम हो, इसलिए मुझे तुम्हारे काम करने के सिद्धांतों पर यकीन नहीं है. शायद कुरान में ग्राहक सेवा का मतलब कुछ और हो. मेरी अपील है कि मुझसे बात करने के लिए कोई हिंदू प्रतिनिधि आए. धन्यवाद.’ इसके बाद गगनजोत नाम के प्रतिनिधि ने पूजा से बात की.

एनडीटीवी के मुताबिक पूजा की यह मांग मानने के बाद कंपनी को सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा. कई लोग कंपनी की आलोचना कर रहे हैं. इनमें जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि अब वे एयरटेल को एक पैसे का भुगतान नहीं करेंगे. लोगों की नाराजगी देखते हुए एयरटेल को सफाई देनी पड़ी. उसने पूजा को किए एक रिप्लाई में कहा, ‘पूजा, एयरटेल में किसी ग्राहक या कर्मचारी के साथ धर्म या जाति के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाता. हमारी आपसे अपील है कि आप भी ऐसा ही करें.’

उधर, पूजा सिंह के खिलाफ भी कई आपत्तिजनक ट्वीट किए गए. हालांकि वे अपने रुख पर अभी भी कायम हैं. उनका कहना है कि कंपनी से एक हिंदू प्रतिनिधि की मांग करके उन्होंने कोई गलती नहीं की है. कुछ ट्विटर यूजर्स की आपत्तिजनक पोस्टों के स्क्रीनशॉट के साथ उन्होंने लिखा है, ‘मैंने एक साधारण प्रार्थना की थी कि मुझसे बात करने वाले मुस्लिम प्रतिनिधि को हटाकर किसी हिंदू को लाया जाए, क्योंकि (मुस्लिम प्रतिनिधि से बात करने का) मेरा पहले का अनुभव अच्छा नहीं रहा और यह मेरा अधिकार भी है. उसके बाद से मुझे इतनी गालियां दी जा रही हैं जिसकी मैंने कल्पना नहीं की थी. इससे साबित होता है कि मैं सही थी.’