जम्मू-कश्मीर में जारी अशांति के बीच मंगलवार को भाजपा ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया. इसके बाद पीडीपी प्रमुख और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपना इस्तीफा एनएन वोहरा को सौंप दिया. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. इससे पहले गठबंधन तोड़ने की घोषणा करते हुए भाजपा नेता राम माधव ने कहा कि देश की संप्रभुता और एकता को ध्यान में रखते हुए यह फैसला किया गया है. उनके मुताबिक भाजपा के लिए अब गठबंधन जारी रखना संभव नहीं रह गया था. उधर, महबूबा मुफ्ती का कहना है, ‘भाजपा के साथ गठबंधन करने का फैसला करने में कई महीने लगे थे, जिसमें सबसे ज्यादा जोर सुलह और बातचीत पर दिया गया था.’ महबूबा मुफ्ती ने आगे कहा, ‘हम (पीडीपी) एकतरफा संघर्ष विराम चाहते थे, लेकिन दुर्भाग्य से हमें उचित प्रतिक्रिया नहीं मिली.’

वहीं, जम्मू-कश्मीर के उलट दिल्ली में जारी राजनीतिक गतिरोध खत्म होता हुआ दिख रहा है. मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल के घर पर अपना धरना खत्म कर दिया है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. यह धरना पिछले नौ दिन से चल रहा था. इससे पहले सोमवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने इस मामले में कड़ी टिप्पणी की थी. कोर्ट ने कहा था कि अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रियों को उपराज्यपाल के घर पर धरना देने का अधिकार नहीं है.

बिहार : ‘देश विरोधी’ गाने पर डांस करने की वजह से आठ लोगों पर राजद्रोह का मामला दर्ज

बिहार के रोहतास जिले में एक ‘देश-विरोधी’ गाने पर डांस करने की वजह से आठ लोगों पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. इनमें से पांच नाबालिग हैं. द इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक आरोपितों के अभिभावकों का कहना है कि उनके मोबाइल से डीजे बज रहा था. इसी बीच, आपत्तिजनक ‘मुजाहिद’ गाना बचने लगा. डांस करने वाले बच्चों ने इस गाने पर ध्यान दिए बिना नाचना जारी रखा. आरोपितों में से एक के अभिभावक का कहना है कि इन बच्चों को तो मुजाहिद का मतलब भी नहीं मालूम होगा. पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि एक व्यक्ति ने वीडियो रिकॉर्ड करने के बाद इसे बजरंग दल के नेता को सौंप दिया है. इसके बाद इस नेता ने संबंधित वीडियो पुलिस को दे दिया.

यूपीपीएससी की मुख्य परीक्षा में गलत प्रश्नपत्र बंटा, हंगामे के बाद परीक्षा रद्द

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) एक बार फिर सुर्खियों में है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक मंगलवार को यूपीपीएससी की मुख्य परीक्षा के दौरान इलाहाबाद स्थित एक केंद्र पर परीक्षार्थियों को सामान्य हिंदी की जगह निबंध का प्रश्नपत्र बांट दिया गया. इसके बाद परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा किया. इनका आरोप है कि पहले उन पर निबंध का पेपर हल करने के लिए दबाव बनाया गया जबकि, इसे दूसरी पाली में हल किया जाना था. बताया जाता है कि छात्रों द्वारा सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करने की वजह से आयोग ने मंगलवार की परीक्षा रद्द कर दी. हालांकि, इसके अलावा बाकी विषयों की परीक्षा तय वक्त पर ही होंगी.

असम में बाढ़ की वजह से 20 की मौत, मणिपुर और त्रिपुरा में मौत का आंकड़ा 21 पहुंचा

पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ का कहर जारी है. मंगलवार को असम में डूबने से छह और लोगों की मौत हो गई. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में बाढ़ की वजह से मरने वाले लोगों का आंकड़ा 20 तक पहुंच गया है. दूसरी ओर, बीते एक महीने में मणिपुर और त्रिपुरा में भी बाढ़ और भूस्खलन की वजह से 21 लोगों की मौत हो गई है. इनके अलावा अन्य राज्यों में बाढ़ की स्थिति में सुधार बताया जा रहा है. प्रभावित इलाकों में राष्ट्रीय आपदा निवारण बल सहित अन्य संस्थाओं और संगठनों द्वारा राहत कार्य चलाए जा रहे हैं.

अमेरिका : नई आव्रजन नीति के तहत 52 भारतीयों को हिरासत में रखा गया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नई आव्रजन नीति के घेरे में 52 भारतीय आ गए हैं. अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक इन्हें ओरेगॉन में हिरासत में रखा गया है. साथ ही, इनके बच्चों को भी इनसे अलग कर दिया गया है. इनमें से अधिकतर सिख समुदाय से हैं. बताया जाता रहा है कि ओरेगॉन के एक डेमोक्रेटिक सांसद ने उस जगह का दौरा किया है, जहां इन्हें हिरासत में रखा गया है. इस दौरे के बाद उन्होंने हिरासत में लिए गए व्यक्तियों की अमानवीय स्थिति के बारे में बताया. इसके अलावा बीते एक महीने के दौरान अमेरिका में अप्रवासियों को अलग-अलग जगहों पर हिरासत में रखा गया है. इस वजह से करीब 2000 बच्चे अपने परिवार से अलग हैं.