जम्मू-कश्मीर पुलिस ने राज्य के अलगाववादी नेता और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के अध्यक्ष यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जाता है कि यासीन मलिक ने राज्य के दूसरे अलगाववादी नेताओं के साथ मिलकर गुरुवार को श्रीनगर में बंद का आह्वान किया था. इसके साथ ही सिविल लाइंस इलाके में एक विरोध प्रदर्शन भी होना था. यह बंद रमजान के दौरान राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी समेत घाटी में मारे गए निर्दोष लोगों के विरोध में बुलाया गया था.

खबरों के मुताबिक स्थानीय पुलिस नहीं चाहती थी कि यासीन मलिक इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करें. इसलिए उन्हें उनके मैसूमा स्थित घर से गिरफ्तार कर लिया गया. अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल उन्हें कोठीबाग पुलिस थाने में रखा गया है. बताया जाता है कि प्रदेश में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद निकट भविष्य में कुछ दूसरे अलगाववादी नेताओं को गिरफ्तार या फिर नजरबंद किया जा सकता है.

उधर, कश्मीर में बुलाए गए बंंद का मिला-जुला असर देखने को मिला है. सड़कों पर सार्वजनिक परिवहन के साधन के बराबर दिखे जबकि निजी वाहन सामान्य रूप से चलते नजर आए. पेट्रोल पंपों के साथ बड़ी संख्या में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के बंद होने से सामान्य जन-जीवन प्रभावित हुआ.