सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश की एक तस्वीर तेजी से प्रसारित हो रही है. ख़बरों के मुताबिक यह तस्वीर हापुड़ जिले के बझेड़ा गांव की है. इसमें गांव के लोग तीन पुलिसकर्मियों की मौज़ूदगी में कासिम नाम के एक शख़्स काे घसीटकर ले जाते दिख रहे हैं. यहां गोहत्या के शक़ में कासिम को मार दिया गया था.

हालांकि हापुड़ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) संकल्प शर्मा ने इस दावे को खारिज किया कि तीन पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में कासिम को घसीटकर ले जाया गया. लेकिन तस्वीर वायरल हाेने के बाद राज्य पुलिस ने अपने आथिकारिक ट्विटर अकाउंट से इस घटना के लिए माफी मांगी है. साथ ही तीनों पुलिकर्मियों पर की गई कार्रवाई भी एसपी के दावे को खारिज करती है. जानकारी के मुताबिक तीनों पुलिसकर्मियों को रिजर्व पुलिस लाइन में भेज दिया गया. मामले की जांच शुरू कर दी गई है. पुलिस विभाग के ट्वीट में यह भी कहा गया है, ‘पुलिसकर्मियों को कार्रवाई के समय संवेदनशील होना चाहिए था और उन्हें (कासिम) सही तरीके से ले जाना चाहिए था.’

ख़बरों के मुताबिक घटना को लेकर पुलिस ने बझेड़ा गांव के दो दर्जन से ज्यादा निवासियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. दो ग्रामीणों को गिरफ्तार भी किया गया है. ग़ौरतलब है कि सोमवार को बझेड़ा गांव में एक उन्मादी भीड़ ने कासिम की हत्या कर दी थी. वहीं, पास के खेत में काम कर रहे समादीन को भी भीड़ ने घायल कर दिया था. फिलहाल उनका इलाज चल रहा है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक गोरक्षा के नाम पर कासिम की हत्या कर दी गई. इस घटना एक अन्य वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें भीड़ में शामिल कुछ लोग कासिम पर गोहत्या का आरोप लगा रहे हैं. हालांकि पुलिस ने इससे इंकार किया है.