कोरियाई प्रायद्वीप से एक और अच्छी खबर है. उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया ने कोरियाई युद्ध के दौरान बिछड़े परिवारों को मिलाने की प्रक्रिया फिर शुरू करने का फैसला किया है. द एसोसिएटिड प्रेस के मुताबिक 20 से 26 अगस्त के दौरान इन बिछड़े परिवारों को मिलाया जाएगा.

1950 से 1953 तक चले कोरियाई युद्ध के चलते लाखों लोग अपने परिवारों से बिछड़ गए थे. वहीं युद्ध के बाद सीमा के दोनों तरफ के लोगों पर एक दूसरे से किसी भी प्रकार का संपर्क करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. हालांकि अपने परिवारों से बिछड़े ज्यादातर लोगों की तो अब तक मौत हो चुकी है. लेकिन जो अभी तक जीवित हैं, उनके लिए उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया की यह कवायद बड़ी राहत मानी जा रही है. इन दोनों देशों के बीच बनी इस सहमति के पीछे पिछले दिनों शुरू हुई शांति प्रक्रिया की अहम भूमिका है जिसमें दोनों देशों के अलावा अमेरिका का भी योगदान है.

बीते अप्रैल में उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के बीच एक ऐतिहासिक बैठक हुई थी. उस दौरान कई समझौते हुए थे और उनमें से एक यह भी था कि दोनों देश कोरियाई युद्ध के पीड़ित परिवारों के सदस्यों को मिलवाएंगे. उस समय कहा गया था कि किम और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात के बाद इस बारे में आगे कदम बढ़ाया जाएगा. हाल में किम और ट्रंप की मुलाकात हुई थी. उसके बाद आज दोनों देशों के अधिकारियों की मुलाकात हुई है और तय किया गया है कि संबंधित परिवारों को अगस्त में मिलवाया जाएगा.