फुटबाल विश्वकप- 2018 में शुक्रवार को पहला मुकाबला ब्राजील और कोस्टा रिका के बीच खेला गया जिसमें ब्राजील ने प्रतिद्वंद्वी टीम पर 2-0 से शानदार जीत दर्ज की. इस विश्वकप में यह पहला मौका है जब इंजरी टाइम (मैच के आधिकारिक समय के दौरान खेल रोके जाने पर खेल के लिए दिया जाने वाला अतिरिक्त समय) में दो गोल करके किसी दल ने अपने विपक्षी पर जीत दर्ज की हो.

इस मुकाबले की शुरुआत से ही ब्राजील ने आक्रामक खेल दिखाया. पहले हाफ में गेंद लगातार कोस्टा रिका के गोलपोस्ट के इर्द-गिर्द घूमते ही नजर आई. इस बीच ब्राजीली खिलाड़ियों ने गोल के कई अच्छे मौके भी बनाए, लेकिन कोस्टा रिका के गोलकीपर केलर नावस ने ब्राजील की अग्रिम पंक्ति के हमलों को नाकामयाब कर दिया. पहला हाफ बिना किसी गोल के बाराबरी पर छूटा.

इसके बाद खेल के शुरुआती क्षणों की ही तरह दूसरे हाफ में भी ब्राजील ने मुकाबले में अपनी बढ़त बनाने के लिए हमलावर रुख जारी रखा. इस बीच ब्राजील को मैच के 79वें मिनट में पेनल्टी भी मिली लेकिन कोस्टा रिका ने इसके पुनरावलोकन के लिए वीडियो रेफरी की मदद ली. वीडियो रेफरी ने पेनल्टी रद्द करने का फैसला सुनाया. अगले 11 मिनटों के बीच भी कोई टीम एक-दूसरे पर बढ़त बनाने में नाकामयाब रही.

मैच का आधिकारिक समय बीत जाने के बाद दोनों ​टीमों को छह मिनट का इंजरी टाइम दिया गया. इंजरी टाइम का अभी पहला ही मिनट शुरू हुआ था कि फिलिप कुटीनिहो ने चीते जैसी फुर्ती दिखाते हुए शानदार शॉट लगाकर गेंद को सीधा कोस्टा रिका के गोल पोस्ट में पहुंचा दिया. अब ब्राजील एक गोल से आगे था और उसे खुद को गोल खाने से बचाना था.

एक गोल से आगे निकलने के बावजूद ब्राजील ने अपना आक्रामक खेल बनाए रखा. इस टीम को इसका फायदा मुकाबले के अंतिम चरणों में मिला जब ब्राजील के स्टार खिलाड़ी नेमार ने आखिरी चरण में अपनी टीम के लिए दूसरी बार फुटबॉल को कोस्टा रिका के गोल में पहुंचा दिया. इस तरह ब्राजील ने यह मुकाबला 2-0 से जीत लिया. इससे पहले स्विटजरलैंड के साथ हुई भिड़ंत में ब्राजील ने मैच को 1-1 से बराबरी पर रोका था.