देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने भारत में टीयूवी-300 का लंबा व्हील बेस वाला वर्जन टीयूवी-300 प्लस लॉन्च कर दिया है. टीयूवी-300 प्लस में पहले से ज्यादा कार्गो स्पेस दिया गया है जिसे जरूरत पड़ने पर सीट में बदला जा सकता है. इस तरह इस कार में नौ लोग आसानी से बैठ सकेंगे. इससे पहले महिंद्रा ने कुछ चुनिंदा ग्राहकों को परीक्षण के लिए टीयूवी-300 प्लस की आपूर्ति की थी जिनकी तरफ से सकारात्मक प्रतिक्रिया आने के बाद ही कंपनी ने इस गाड़ी को आधिकारिक तौर पर बाजार में उतारा है.

फ्रंट और रियर साइड से दिखने में टीयूवी-300 अपने मौजूदा मॉडल की तरह ही दिखती है लेकिन गाड़ी का साइड लुक इसे पहले से अलग करता है. इंटिरीयर की बात करें तो महिंद्रा ने इस कार का केबिन पहले से ज्यादा बड़ा किया है. कंपनी ने टीयूवी-300 प्लस को तीन वेरिएंट - पी4, पी6 और पी8 के साथ मैजेस्टिक सिल्वर, ग्लेशियर व्हाइट, बोल्ड ब्लैक, डायनेमो रेड और मॉल्टन ऑरेंज जैसे रंगों के विकल्प के साथ बाजार में उतारा है.

यदि कार की अन्य खूबियों की बात करें तो इसमें फॉ लेदर सीट्स, स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो और फोन कंट्रोल, वॉश एंड वाइप वाला रियर डिफॉगर, 7-इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, जीपीएस नेविएगेशन, माइक्रो हाइब्रिड तकनीक और इंटेलिपार्क रिवर्स असिस्ट मिलता है. सुरक्षा के लिहाज़ से कार में डुअल एयरबैग्स, एबीएस और ईबीडी के साथ इमरजेंसी ब्रेकिंग की दशा में अपने आप शुरु होने वाली हेज़ार्ड लाइट भी दी गई है.

परफॉर्मेंस के लिहाज से महिंद्रा ने टीयूवी-300 प्लस में 1.5-लीटर इंजन की जगह 2.2-लीटर एमहॉक डीजल इंजन लगाया है जो 120 बीएचपी पॉवर के साथ 280 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन को कंपनी ने 6-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस किया है. यदि आप इस शानदार एसयूवी को घर लाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 9.50 लाख रुपए (एक्सशोरूम) कीमत चुकाने होंगे.

सेना के लिए बनी सफारी स्टॉर्म लखनऊ में देखी गई

टाटा मोटर्स द्वारा सेना के लिए विशेष तौर पर तैयार की गई 3,192 सफारी स्टॉर्म की आपूर्ति की जा चुकी है. एक प्रमुख ऑटो वेबसाइट के मुताबिक इनमें से एक गाड़ी नवाबों के शहर लखनऊ में देखी गई है. अलॉय व्हील्स समेत पूरी तरह बैटल ग्रीन कलर से रंगी होने की वजह से इस खास सफारी से किसी छोटे युद्ध वाहन जैसी झलक आती है.

रक्षा मंत्रालय से हुए एक अनुबंध के तहत सफारी स्टॉर्म को सेना के बेड़े में 25 साल से इस्तेमाल में ली जा रही मारुति जिप्सी की जगह शामिल किया गया है. इस संदर्भ में भारतीय सेना ने साल 2013 में निविदाएं बुलवाई थीं जिसके लिए महिंद्रा एंड महिंद्रा भी स्कॉर्पियो के साथ मैदान में थी. लेकिन ट्रायल में सफारी ने स्कॉर्पियो को पीछे छोड़ दिया. इस अनुबंध के मुताबिक टाटा मोटर्स ने जीएस-800 नाम की नई वाहन श्रेणी के तहत इन खास गाड़ियों का निर्माण किया है.

रक्षा मंत्रालय ने सेना के लिए गाड़ी का चयन करने से पहले तीन मानदंड बनाए थे. पहला, वह 4X4 यानी फोर व्हील ड्राइविंग की सुविधा के साथ वाहन 800 किग्रा वजन ले जाने में सक्षम हो. दूसरा और तीसरा यह था कि वाहन की छत मजबूत हो और उसमें एयर कंडीशनिंग की सुविधा मौजूद हो. सफारी स्टॉर्म इन तीनों कसौटियों पर खरी उतरी. कंपनी का कहना है कि सेना ने देश के अलग-अलग हिस्सों में सफारी स्ट्रॉम के ट्रायल लिए, जिनमें यह गाड़ी सफल रही. 4X4 व्हील ड्राइव का विकल्प रेगिस्तान, कीचड़ और ऊंचे पथरीले इलाकों में ड्राइविंग के लिए मददगार साबित होता है.

जीप ने कंपस का लिमिटेड एडिशन लॉन्च किया

अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी जीप ने भारत में अपनी लोकप्रिय कॉम्पैक एसयूवी कंपस का लिमिटेड एडिशन ‘बैडरॉक’ लॉन्च कर दिया है. गौरतलब है कि जीप कंपस ने भारत में बहुत कम समय में अपनी खास जगह बना ली है. भारत में एक वर्ष की अवधि में कंपस की 25,000 यूनिट बेचे जाने की खुशी में ही बैडरॉक को लॉन्च किया गया है.

बैडरॉक एडिशन को जीप ने कंपस के स्पोर्ट ट्रिम में उपलब्ध करवाया है जो 2.0-लीटर डीजल इंजन के साथ आता है. यह इंजन 6-स्पीड गियरबॉक्स से लैस है. कंपस बैडरॉक को कंपनी ने 4x2 ड्राइव विकल्प के साथ उपलब्ध करवाया है.

जीप इंडिया ने कंपस के इस खास एडिशन के साथ कई खूबियों को जोड़ा है जिनमें रिवर्स पार्किंग कैमरा, 16-इंच ग्लॉस ब्लैक अलॉय व्हील्स, साइड स्टेप, बैडरॉक ब्रांड के सीट कवर्स, ब्लैक रूफ रेल्स, प्रीमियम क्वालिटी फ्लोर मैट्स, बैडरॉक डेकल्स और बैडरॉक मोनोग्राम दिया गया है.

इस मौके पर कंपनी का कहना है, ‘बाज़ार में लॉन्च होने के एक साल से भी कम समय में कंपस ने जो हासिल किया है उसपर हमें गर्व है. हम भारतीय ग्राहकों को 25,000 यूनिट जीप कंपस बिकने पर बधाई देते हैं और इसी खुशी को ग्राहकों तक हमने जीप कंपस के बैडरॉक लिमिटेड एडिशन के रूप में पहुंचाया है.’ कंपनी ने इस कार की कीमत 17.53 लाख रुपए तय की है.