‘कर्नाटक के हज भवन का नाम टीपू सुल्तान के नाम पर रखने की कोई जरूरत नहीं है.’

— बीएस येद्दियुरप्पा, कर्नाटक में भाजपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री

भाजपा नेता बीएस येद्दियुरप्पा का यह बयान कर्नाटक में हज भवन का नाम टीपू सुल्तान के नाम पर रखने की अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री बीजेड जमीर अहमद खान की मांग के जवाब में आया. उन्होंने कहा, ‘जमीर अहमद खान सामाजिक सद्भाव को बेवजह खराब करने की कोशिश कर रहे हैं.’ बीएस येद्दियुरप्पा ने आगे कहा कि अगर राज्य सरकार हज भवन का नाम रखना ही चाहती है तो एपीजे अब्दुल कलाम से बेहतर कोई दूसरा नाम नहीं हो सकता. वहीं, भाजपा के एक अन्य विधायक केजी बोपैया ने कहा कि अगर सरकार ने हज भवन का नाम टीपू सुल्तान के नाम पर रखा तो राज्य में सांप्रदायिक टकराव भड़क सकता है.

‘अगर नीतीश कुमार महागठबंधन में शामिल होते हैं तो भी मुझे लगता है कि तेजस्वी ही 2020 में मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे.’

— जीतन राम मांझी, हिंदुस्तानी आवाम पार्टी के अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री

हिंदुस्तानी आवाम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी का यह बयान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महागठबंधन में वापसी के सवाल पर आया. जदूय की ओर से लोक सभा की ज्यादा सीटों की मांग पर उन्होंने कहा कि बीते लोक सभा चुनाव में उसे दो सीटें मिली थीं, उससे इससे ज्यादा सीटें मांगने का हक नहीं बनता है. राज्य की कानून-व्यवस्था के बारे में जीतन राम मांझी ने कहा कि बिहार में अभी आपातकाल से बदतर हालात में है. इससे पहले कांग्रेस के बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल भी कह चुके हैं कि अगर नीतीश कुमार एनडीए छोड़कर महागठबंधन में शामिल होने का प्रस्ताव रखते हैं तो उस पर विचार किया जाएगा.


‘आपातकाल के काले दौर को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए.’

— वेंकैया नायडू, उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का यह बयान 1975 में घोषित आपातकाल को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘इसे पाठ्यक्रम में शामिल करके आज की पीढ़ी को 1975-77 की डरावनी घटनाओं के प्रति संवेदनशील बनाया जा सकता है. इससे वे यह भी समझ पाएंगे कि आज उन्हें जो लोकतांत्रिक और व्यक्तिगत आजादी हासिल है, उसकी कीमत क्या है.’ वेंकैया नायडू ने आगे कहा कि जब इतिहास की किताबों में मध्यकालीन अंध युग और ब्रिटिश राज की दास्तान दर्ज है तो आपातकाल लगाने के कारणों और उसके दुष्परिणामों को युवाओं की पढ़ाई का हिस्सा क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए. उपराष्ट्रपति के मुताबिक आपातकाल के दौरान सुप्रीम कोर्ट एक व्यक्ति को कानून से ऊपर रखने की कवायद का मूकदर्शक बन गया था.


‘जब बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में दलित और पिछड़े वर्ग के छात्रों के लिए आरक्षण है तो अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में क्यों नहीं?’

— आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ का यह बयान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में आरक्षण का मुद्दा उठाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘जो लोग दलितों के साथ भेदभाव होने की बात करते हैं उन्हें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में दलितों के आरक्षण की बात उठानी चाहिए.’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि जब भी कहीं चुनाव आता है, वे अपने को हिंदू बताना और मंदिरों की यात्रा करना शुरू कर देते हैं. मुख्यमंत्री के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी आतंकवाद के खिलाफ कड़े कदम उठाते हैं, कांग्रेस बेचैन होने लगती है.


‘तुर्की के राष्ट्रपति और संसदीय चुनाव में लोकतंत्र जीता है.’

— रजब तैय्यब एर्दोआन, तुर्की के राष्ट्रपति

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोआन का यह बयान राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद समर्थन के लिए जनता का आभार जताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘24 जून के चुनाव के विजेता तुर्की, तुर्की की जनता, हमारे क्षेत्र के पीड़ित और दुनिया के वंचित हैं.’ रजब तैय्यब एर्दोआन आगे कहा कि शपथ ग्रहण के तुरंत बाद से वे बगैर समय गंवाए अपने चुनावी वादों को पूरा करने में जुट जाएंगे. उनके मुताबिक तुर्की की नई सरकार आतंकी समूहों से निर्णायक तौर पर निपटने की कोशिश करेगी. रजब तैय्यब एर्दोऑन का यह भी कहना था कि तुर्की ने विकास, निवेश, समृद्धता और दुनिया में सभी क्षेत्रों में दुनिया में देश की प्रतिष्ठा और प्रभाव का पक्ष चुना है. तुर्की में राष्ट्रपति की शक्तियों में अभूतपूर्व इजाफा करने वाले संविधान संशोधन के बाद रविवार को पहली बार चुनाव हुए थे.