फुटबॉल विश्वकप- 2018 में सोमवार को पुर्तगाल और ईरान के बीच खेला गया तीसरा मुकाबला 1-1 से बराबरी पर छूटा. इसके बावजूद ग्रुप बी में पांच अंकों के साथ पुर्तगाल की टीम अगले राउंड में प्रवेश कर गई. नॉकआउट राउंड में जगह बनाने वाला स्पेन इस ग्रुप का दूसरा देश है जबकि ईरान और मोरक्को का विश्वकप अभियान खत्म हो गया है.

मॉर्डोविया एरिना में हुए इसे मुकाबले में पुर्तगाल ने शुरू से ही आक्रामक खेल दिखाते हुए अपने प्रतिद्वंद्वी पर हावी होने की कोशिशें शुरू कर दी थीं. मैच के तीसरे मिनट में टीम के स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो को गोल करने का मौका भी मिला लेकिन गेंद को वे गोल में नहीं पहुंचा सके. पहले हाफ के 16वें मिनट में पुर्तगाल को फ्री किक भी मिली, पर इस बार भी गोल करने में रोनाल्डो चूक गए.

लगातार हमलों के बीच पहले हाफ के अंतिम क्षणों में पुर्तगाल को बढ़त दिलाने का काम इसकी मध्य पंक्ति के खिलाड़ी रिकार्डो क्वारेसमा ने किया. बॉक्स के दाहिनी तरफ से दनदनाता शॉट लगाकर क्वारेसमा ने गेंद सीधा ईरान के गोल में पहुंचा दी.

दूसरे हाफ में भी पुर्तगाल का हमलावर अंदाज जारी रहा. इसी बीच 50वें मिनट में ईरान के फाउल पर वीडियो रेफरी की मदद ली गई जिस पर पुर्तगाल को पेनल्टी किक मिली. इस मौके पर किक रोनाल्डो ने लगाई. लेकिन इस बार भी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और ईरानी गोलकीपर ने बाईं तरफ गोता लगाते हुए गेंद को गोल के भीतर पहुंचने से पहले ही रोक लिया.

मैच का आधि​कारिक समय खत्म होने के बाद दोनों टीमों को इंजरी टाइम (मैच के दौरान खेल रोके जाने से दिया जाने वाला अतिरिक्त समय) दिया गया. इसके तीसरे मिनट में वीडियो रेफरी की सलाह पर ईरान को पेनल्टी दी गई. करीम अंसारीफर्द ने शॉट लगाया और गेंद को गोल में डालकर ईरान को मुकाबले में बराबरी पर ला दिया. अब शनिवार को पुर्तगाल का मुकाबला उरुग्वे से होगा. इसमें जीतने वाली टीम क्वार्टर फाइनल में पहुंचेगी.

उधर, सोमवार का दूसरा मुकाबला उरुग्वे और रूस के बीच खेला गया जिसमें उरुग्वे ने मेजबान टीम को 3-0 से पटखनी दी. उरुग्वे ने मैच की शुरुआत से ही आक्रामक खेल दिखाया. टीम की अग्रिम पंक्ति ने रूस की रक्षा पंक्ति की जमकर परीक्षा ली और रूस के खिलाड़ी दबाव में दिखे. इसका फायदा उरुग्वे को 10वें मिनट में मिला जब टीम के स्टार खिलाड़ी लुईस सुआरेज ने गोल करके उरुग्वे को 1-0 की बढ़त दिला दी.

समारा एरिना में हुए इस मुकाबले में रूस की टीम पर 23वें मिनट में दबाव तब और बढ़ गया जब इसके स्टार खिलाड़ी डेनिस चेरिशेव ने आत्मघाती गोल कर दिया. इस विश्वकप का यह छठवां आत्मघाती गोल था. दो गोल से पिछड़ रहे रूस को मैच के 36वें मिनट में अगला जबरदस्त झटका तब लगा जब इगोर स्मोलनिकोव को दूसरी बार पीला कार्ड दिखाते हुए रेफरी ने उन्हें मैदान से बाहर कर दिया. इससे पहले उन्हें 30वें मिनट में पहला पीला कार्ड दिखाया गया था. अब रूस यह मैच सिर्फ 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहा था.

पहले हाफ में एक गोल से पिछड़ती रूस की टीम ने घरेलू दर्शकों के बीच दूसरे हाफ में वापसी की भरपूर कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिल पाई. मैच अंतिम मुकाम पर था और रूस के खिला​ड़ी हार-जीत का अंतर पाटने की कोशिश कर रहे थे. इसी बीच 90वें मिनट में एडिसन कवानी ने उरुग्वे के लिए एक और गोल दाग कर मुकाबले का अंतिम स्कोर 3-0 पर पहुंचा दिया.

ग्रपु ए के इस मुकाबले में हालांकि उरुग्वे और रूस दोनों नॉकआउट राउंड में प्रवेश कर गए हैं. इसके साथ ही दिलचस्प बात यह भी है कि उरुग्वे ने इस विश्वकप के अपने सभी ग्रुप मैचों में जहां जीत दर्ज की वहीं इस टीम ने इन मैचों के दौरान एक भी गोल नहीं खाया.

उरुग्वे और रूस के मुकाबले से पहले सोमवार को सऊदी अरब और मिस्र की टीमें भी मैदान पर उतरीं जिसमें सऊदी अरब ने विपक्षी टीम पर 2-1 से रोमांचक जीत दर्ज करते हुए इस विश्वकप में अपने अभियान का समापन किया. उधर, मिस्र को फुटबॉल विश्वकप के 21वें संस्करण में जीत का खाता खोले बिना ही विदाई लेनी पड़ी.

मंगलवार को विश्वकप के चार मुकाबले खेले जाने हैं. ग्रुप सी के तहत आॅस्ट्रेलिया जहां पेरू के साथ भिड़ेगा तो वहीं डेनमार्क और फ्रांस के बीच फुटबॉल प्रमियों को रोमांचक मुकाबला होने की उम्मीद है. ग्रुप सी के तहत नाइजीरिया अर्जेंटीना के खिलाफ उतरेगा तो वहीं आइसलैंड की भिड़ं क्रोएशिया के साथ होगी.