देश में 1975 में लागू आपातकाल की वर्षगांठ के मौके पर कांग्रेस और भाजपा के बीच तीखी बयानबाजी जारी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार कांग्रेस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमले के जवाब में पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘दिल्ली सल्तनत के औरंगजेब से ज्यादा क्रूर तानाशाह मोदी जी ने आज 43 साल पहले के आपातकाल का पाठ पढ़ाया.’ उन्होंने आगे पूछा, ‘क्या कांग्रेस पर भड़ास निकालने से मोदी जी के जुमलों पर परदा डाल सकता है?’

इससे पहले मुंबई में आपातकाल पर आयोजित एक कार्यक्रम में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘हम केवल कांग्रेस की आलोचना करने के लिए काला दिवस (आपातकाल) नहीं मना रहे हैं, बल्कि आज की युवा पीढ़ी को उस दौर की घटनाओं के बारे में जागरुक करना चाहते हैं.’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘देश ने कभी नहीं सोचा था कि सत्ता की लालच और एक परिवार की चापलूसी में देश को एक जेल में तब्दील कर दिया जाएगा.’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के अलावा पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने भी आपातकाल को लेकर भाजपा के हमलों का जवाब दिया. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘चार साल बाद भाजपा को 2019 में चुनाव हारने के डर परेशान कर रहा है, इसलिए वह 1975 के आपातकाल की घटनाओं का आश्रय लेने की कोशिश कर रही है. लेकिन सच तो यह है कि 1977 के बाद इंदिरा जी ने माफी मांग ली थी, अपनी गलती सुधारी थी और जनता ने उनके पक्ष में मतदान किया था.’ कांग्रेस नेता ने आगे कहा, ‘क्या वे (भाजपा) बीते चार साल के अघोषित आपातकाल के लिए माफी मांगेंगे?’ अहमद पटेल ने यह भी कहा कि लोगों की पीट-पीटकर हत्या की जा रही है, डराया जा रहा है, सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है, अर्थव्यवस्था और नागरिक आजादी को कुचला रहा है.