निजी विमानन कंपनी इंडिगो के एक पायलट ने अपनी जाबांजी से 176 यात्रियों की जिंदगियां बचाने का कारनामा किया है. टाइम्स नाउ के मुताबिक बीते हफ्ते शनिवार को इंडिगो के एक विमान ने मणिपुर के इम्फाल से पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए उड़ान भरी थी. कोलकाता हवाई अड्डे पर उतरने से कुछ ही देर पहले विमान के 63 वर्षीय कैप्टन पायलट सिल्वियो डियाज एकोस्टा को सीने में तेज दर्द की शिकायत हुई. इसके साथ ही उन्हें बहुत अधिक पसीना भी आने लगा. अपनी इन स्थितियों पर नियंत्रण पाते हुए उन्होंने विमान को 4.45 बजे सुरक्षित कोलकाता हवाईअड्डे पर उतार लिया.

विमान उतरने के बाद सिल्वियो डियाज एकोस्टा को तुरंत मेडिकल सहायता मुहैया कराई गई. इसके बावजूद उनकी बिगड़ती हालत देखकर उन्हें फौरन नजदीक के अस्पताल ले जाया गया. उनकी स्थिति और जरूरी जांच करने के बाद डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें गंभीर हार्ट अटैक हुआ है. इसके फौरन बाद उनकी एंजियोप्लास्टी की गई और स्टेंट लगाया गया. आॅपरेशन के बाद उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है.

सिल्वियो डियाज एकोस्टा का आॅपरेशन करने वाले हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सत्रजीत सामंत ने कहा है कि गंभीर हार्ट अटैक आने के बावजूद उन्होंने अपनी जिम्मेदारी पूरी करते हुए जिस तरह विमान की सुरक्षित लैंडिंग कराई है,यह किसी चमत्कार से कम नहीं है. उधर, इंडिगो एयरलांइस ने क्यूबा के इस पायलट का इलाज सही समय पर करते हुए उसकी जान बचाने के लिए अस्पताल और मेडिकल टीम का आभार जताया है.