2030 तक पूरी तरह इलेक्ट्रिक कारों पर निर्भर होने की केंद्र सरकार की योजना को बड़ा झटका लगा है. सरकार ने इस दिशा में आगे बढ़ते हुए केंद्रीय मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के लिए इलेक्ट्रिक सेडान कारें उपलब्ध करवाई थी. लेकिन अब इन अधिकारियों ने इलेक्ट्रिक कारों के इस्तेमाल से मना कर दिया है. अधिकारियों के लिए राज्य सरकारों द्वारा चलाई जाने वाली एनर्जी एफिशिएंसी सर्विस लिमिटेड (ईईएसएल) ने महिंद्रा-एंड-महिंद्रा और टाटा मोटर्स की इलेक्ट्रिक कारें उपलब्ध करवाई थीं जो उन्हें पसंद नहीं आईं.

सूत्र के हवाले से एक प्रमुख समाचार वेबसाइट का कहना है कि अधिकारियों द्वारा इलेक्ट्रिक कारों को नापसंद करने के पीछे इन कारों का खराब प्रदर्शन और कम बैटरी रेंज है. जानकारों का कहना है कि पूरा चार्ज करने के बावजूद टाटा टिगोर ईवी और महिंद्रा ई-वेरिटो सिटी 80-82 किमी/घंटा की रफ़्तार पर चलने में भी असमर्थ हैं. दरअसल इन कारों में ग्लोबल स्टैंडर्ड की तुलना में कम क्षमता वाली बैटरी के इस्तेमाल किए जाने की ख़बरें आई हैं जिनके मुताबिक इन दोनों ही कारों में ग्लोबल मानक यानी 27-35 किलोवॉट के मुकाबले 17 किलोवॉट की ही बैटरी दी गई है.

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता देश है. ऐसे में सरकार का दावा है कि इलेक्ट्रिक कारों के बाजार में आने से प्रदूषण के साथ-साथ तेल की कीमतों में भी राहत मिलेगी. लेकिन फिलहाल तो पहले ही कदम पर उसे झटका लगता दिख रहा है.

आईआईटी रुड़की के छात्रों ने एयरबैग वाला हेलमेट तैयार किया

भारत विश्व में सर्वाधिक सड़क दुर्घटनाओं वाले देशों में शुमार है. यहां प्रतिवर्ष दुर्घटनाओं से होने वाली मौतों में लगभग 27 फीसदी ऐसे लोगों का आंकड़ा होता है जो दोपहिया वाहन सवार होते हैं. अलग-अलग रिपोर्टों के मुताबिक इनमें से भी अधिकतर लोगों की जान सिर पर चोट लगने की वजह से जाती है. दोपहिया वाहन सवारों की इस परेशानी को देखते हुए आईआईटी रुड़की की मैकेनिकल इंजीनियरिंग के तीन छात्रों - राजवर्धन सिंह, सारंग नागवंशी और मोहित सिद्धा ने एयरबैग वाला हेलमेट तैयार किया है. जानकारी के मुताबिक यह हेलमेट इन्फ्लेटेबल स्पेस स्ट्रक्चर से प्रेरित होकर तैयार किया गया है. इस तकनीक में हवा पर दबाव बनाकर वस्तुओं के आकार को यथावत रखा जाता है. यह वही तकनीक है जो कई आधुनिक नावों और आर्मी टैंट में देखने को मिलती है. इस तकनीक की खासियत है कि यह बहुत किफायती होती है. यही कारण है कि इस हैलमेट की कीमत तकरीबन 2,000 रुपए के आस-पास रखी जा सकती है.

इस हेलमेट की कार्यप्रणाली को समझने की कोशिश करें तो यह मूलरूप से एक पट्टे के जैसा है जिसे उसी धातु से तैयार किया गया है जिससे कि बुलेट प्रूफ जैकेट तैयार की जाती है. इसके अलावा इस हेलमेट में कुछ सेंसर लगाए गए हैं जो दवाब, आवेग और रफ्तार आदि को नापने का काम करते हैं. इन सेंसरों की मदद से जैसे ही इस हेलमेट को किसी दुर्घटना का आभास होता है, यह एयरबैग की तरह सिर के चारों तरफ लिपट कर गंभीर चोट से बचाता है. आईआईटी रुड़की टीम ने चार बार डमी पर किए गए अपने टेस्ट में पाया कि इस एयरबैग वाले हेलमेट ने साधारण हेलमेट की तुलना में बेहतर तरीके से काम किया.

डुकाटी मल्टीस्ट्राडा 1260 का पाइक्स पीक एडिशन भारत में लॉन्च

इटली की वाहन निर्माता कंपनी डुकाटी ने अपनी सुपर स्पोर्ट बाइक मल्टीस्ट्राडा - 1260 का पाइक्स पीक एडिशन भारत में लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इस एडिशन को भारत में मल्टीस्ट्राडा -1260 की लॉन्चिंग के कुछ सप्ताह के भीतर ही बाजार में उतारा है. बताया जा रहा है कि कंपनी ने इस नए एडिशन को मल्टीस्ट्राडा के उन अलग-अलग मॉडलों से प्रेरित होकर बनाया है जिन्होंने हाल ही में आयोजित पाइक्स पीक इंटरनेशनल हिल क्लाइंब चैलेंज में भाग लिया था. डुकाटी इंडिया के मुताबिक भारत में मल्टीस्ट्राडा - 1260 पाइक्स पीक एडिशन की सीमित यूनिट ही बेची जाएंगी जिनकी डिलिवरी जुलाई-2018 से शुरु होगी.

मोटरस्पोर्ट थीम पर आधारित मल्टीस्टाड्रा 1260 पाइक्स पीक एडिशन को स्टेंडर्ड मल्टीस्टाड्रा 1260 में कुछ अपडेट के साथ तैयार किया गया है. इनमें से यदि बड़े बदलावों की बात की जाए तो इस बाइक के कई हिस्सों जैसे- विंड स्क्रीन, फ्रंट मडगार्ड, एयर इनटेक कवर्स को कार्बन फाइबर से तैयार किया गया है. वहीं इस बाइक के टायर रिम एल्युमिनियम से तैयार होने की वजह से पहले से हल्के हैं.

डुकाटी इंडिया ने पाइक्स पीक एडिशन में मल्टीस्ट्राडा के 1260 स्टैंडर्ड की तरह 1,262 सीसी के डीवीटी टेस्टास्ट्रेटा एल-ट्विन इंजन का उपयोग किया है जो 9750 आरपीएम पर 158 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 7500 आरपीएम पर 129.5 एनएम का टॉर्क उत्पन्न करने में सक्षम है. इस इंजन को इस तरह तैयार किया गया है कि यह अपने अधिकतम टॉर्क का 85 फीसदी 3500 आरपीएम पर ही पैदा करने लगता है. इस बाइक को राइड बाय वायर, 8-लेवल डुकाटी व्हील कंट्रोल, कॉर्नरिंग एबीएस और ट्रैक्शन कंट्रोल जैसी खूबियों से लैस किया गया है.

मल्टीस्ट्राडा पाइक्स पीक एडिशन की कीमत की बात करें तो 21.42 लाख रुपए के साथ यह अपने स्टैंडर्ड एडिशन से करीब 5.43 लाख और मल्टीस्ट्राडा 1260 एस से करीब 3.36 लाख रुपए ज्यादा मंहगी है.