गूगल ने आज ब्रिटिश इंजीनियर ह्यूबर्ट सेसिल बूथ को डूडल के जरिये श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने दुनिया का पहला वैक्यूम क्लीनर बनाया था. उनके 147वें जन्मदिन पर गूगल ने एनिमेटिड डूडल बनाकर उन्हें सम्मान दिया है.

ह्यूबर्ट सेसिल बूथ का जन्म 1871 में इंग्लैंड के ग्लॉसेस्टर में हुआ था. वहां स्कूली और कॉलेज शिक्षा लेने के बाद उन्होंने लंदन स्थित सेंट्रल टेक्निकल कॉलेज में दाखिला लिया. इंजीनियरिंग और मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने लंदन में ही बतौर सिविल इंजीनियर काम किया.

ह्यूबर्ट बूथ को पहला वैक्यूम क्लीनर बनाने का श्रेय दिया जाता है. 20वीं सदी के शुरुआती साल तक घरों और दूसरी जगहों की सफाई का काम प्रेशराइज्ड एयर यानी हवा की तेज फुहार मारकर होने लगा था. लेकिन बूथ के मन में विचार आया कि क्यों न इसका उल्टा किया जाए. तो उन्होंने एक ऐसा क्लीनर बनाया जो धूल को सोख लेता था. इसका नाम उन्होंने पफिंग बिली रखा. यह वैक्यूम क्लीनर एक इंजन से चलता था जिसे घोड़ों की मदद से खींचा जाता था. ह्यूबर्ट बूथ ने शुरुआत में इसे बेचा नहीं बल्कि इससे सफाई की सेवा देना शुरू कर दिया. 1903 में उन्होंने ब्रिटिश वैक्यूम क्लीनर कंपनी बनाई. सफाई करने वालों को बाकायदा एक यूनीफॉर्म दी गई. धीरे-धीरे अमीर लोगों में इसका क्रेज हो गया. यहां तक ब्रिटिश राजपरिवार और नौसेना भी बूथ की कंपनी के ग्राहकों में शामिल हो गए.

ह्यूबर्ट बूथ 1903 से 1940 तक वे लगातार इंजीनियरिंग के क्षेत्र में काम करते रहे. इस दौरान उन्होंने कई रेलवे पुलों, फैक्ट्रियों और दूसरे निर्माण कार्यों में भी योगदान दिया. लंदन, पेरिस, और विएना के मनोरंजन पार्कों में बड़े झूलों के डिजाइन भी उन्होंने तैयार किए. 14 जनवरी, 1955 को इंग्लैंड के क्रॉयडॉन में उनका निधन हो गया.