अमेरिका के कंसास शहर स्थित एक रेस्टोरेंट में भारतीय छात्र शरत कोप्पु की गोली मार कर हत्या करने के मामले में कंसास पुलिस ने रेस्टोरेंट की सीसीटीवी फुटेज जारी की है. उसने इस घटना के पीछे के संदिग्धों की जानकारी देने वाले को 10,000 डॉलर (6,86,000 रुपये) का इनाम देने की भी घोषणा की है. इस घटना के दो गवाहों के हवाले से पुलिस ने बताया कि रेस्टोरेंट से पांच गोलियां चलने की आवाज सुनी गई थी. पुलिस के मुताबिक उसके घटनास्थल पर पहुंचने तक हमलावर भाग चुके थे. यह पता नहीं चल पाया है कि इस घटना के पीछे एक या उससे ज्यादा लोगों का हाथ है.

मृतक शरत कोप्पु तेलंगाना के वारंगल जिले के रहने वाले थे. वे सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में मास्टर्स करने के लिए अमेरिका गए थे. पढ़ाई के बाद वे कंसास के एक रेस्टोरेंट में पार्ट-टाइम नौकरी करते थे. कंसास पुलिस शरत की मौत को डकैती के दौरान हुई घटना बता रही है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसे हेट क्राइम के रूप में नहीं देखा जा रहा. अधिकारी के मुताबिक मामले की जांच चल रही है.

उधर, शरत की मौत की खबर के बाद हैदराबाद में रह रहे उनके परिजनों का बुरा हाल है. उनके पिता राममोहन कोप्पु ने बताया कि उन्हें शनिवार को पता चला कि उनका बेटा गोलीबारी में घायल हो गया है. उन्होंने कहा, ‘हमें बताया गया कि कुछ बदमाशों ने रेस्टोरेंट में घुस कर गोलीबारी शुरू कर दी. मेरे बेटे के दो दोस्त गोलीबारी में बच निकले. मेरे बेटे ने भी भागने की कोशिश की लेकिन उसे पीछे से गोली मार दी गई.’

इस घटना पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी दुख प्रकट किया है. रविवार को ट्विटर के जरिए उन्होंने कहा कि वे इस घटना की जांच पर नजर रखेंगी और पीड़ित परिवार की पूरी सहायता करेंगी. वहीं, शिकागो स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास के प्रमुख ने भी बताया कि वे पुलिस और पीड़ित परिवार के संपर्क में हैं. एक ट्वीट के जरिए उन्होंने कहा कि दूतावास के अधिकारी कंसास शहर जा रहे हैं.