देश के विभिन्न राज्यों में कारोबार में आसानी (ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस) के मामले में इस बार आंध्र प्रदेश पहले नंबर पर रहा है. इससे पहले पिछली बार की सूची में वह तेलंगाना के साथ संयुक्त रूप से पहले नंबर रहा था.

ख़बरों के मुताबिक इस सूची में तेलंगाना को इस बार दूसरा और हरियाणा को तीसरा स्थान मिला है. जबकि अपनी औद्योगिक प्रगति के लिए बहुप्रचारित राज्यों- गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु को क्रमश: पांचवां और 13वां और 15वां स्थान मिला है. खास बात ये है कि झारखंड और छत्तीसगढ़ जैसे छोटे समझे जाने राज्य भी बेहतर प्रदर्शन करने वाले 10 राज्यों में शुमार हैं. इसकी दूसरी ख़ास बात ये कि सूची में शामिल शीर्ष 10 राज्यों में से छह भाजपा शासित हैं. इसमें पश्चिम बंगाल 10वें स्थान पर है.

आम आदमी पार्टी (आप) के शासन वाला दिल्ली सबसे ख़राब प्रदर्शन करने वाले राज्यों में शुमार है. उसे सूची में 23वां स्थान मिला है. सबसे आख़िर में मेघालय 34वें स्थान पर है. उसके साथ इसी पायदान पर अरुणाचल प्रदेश और लक्षद्वीप भी हैं. केंद्र सरकार का औद्योगिक नीति प्रोत्साहन विभाग (डीआईपीपी) विभिन्न निर्धारित मानकों पर आकलन कर यह सूची तैयार करता है. इसका मक़सद देश के सभी राज्यों के बीच कारोबार समर्थक माहौल बनाने के लिए आपसी प्रतिस्पर्धा पैदा करना है.