बायोपिक के बाद अब जल्दी ही संजय दत्त की आत्मकथा भी आने वाली है. हॉर्पर कॉलिन्स से प्रकाशित हो रही यह किताब संजय दत्त के साठवें जन्मदिन यानी 29 जुलाई, 2019 को लॉन्च होगी. हॉर्पर कॉलिन्स ने बुधवार को यह घोषणा करते हुए बताया है, ‘यह किताब संजय दत्त के दिलचस्प किस्सों, उनके जेल के अनुभवों, 80-90 के दशक के बॉलीवुड के साथ-साथ उनके खुद को खोजने की वह कहानी बताएगी जो अब तक अनसुनी ही रही है.’ संजय दत्त ने भी आत्मकथा छपने पर खुशी जताई है. उन्होंने कहा है, ‘मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरी जिंदगी असाधारण रही. पहली बार मुझे अपनी इस किताब के जरिए इसके तमाम दिलचस्प किस्से सुनाने का मौका मिला है. मैं अपने प्रशंसकों-पाठकों के साथ अपनी यादें और भावनाएं बांट लेना चाहता हूं.’

बताया जा रहा है कि इस आत्मकथा की शुरुआत संजय दत्त के बचपन के बजाय साल 1981 से शुरू होगी जब उनकी मां नरगिस दत्त की मौत हुई थी. यह आत्मकथा इस हादसे के बाद संजय दत्त की बदली हुई जिंदगी, उनके प्रेम संबंधों, अंडरवर्ल्ड कनेक्शन, कानूनी उलझनों में फंसने और सजा काटने तक की कहानी बताने वाली है. करीब दो हफ्ते पहले ही संजय दत्त की ऑफिशियल बायोपिक ‘संजू’ रिलीज हुई है और यह भी इस अभिनेता के जीवन के इन्हीं पहलुओं को दिखाती है. अब आत्मकथा इस फिल्म से इतर कौन से नए राज खोलने वाली है, यह बात उत्सुकता का विषय हो सकती है.