स्वराज इंडिया पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने आरोप लगाया है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार उनके परिवार को निशाना बना रही है. उनके मुताबिक उन्होंने किसानों को फसलों का उचित मूल्य दिलाने के लिए जो आंदोलन शुरू किया है उसका दमन करने के लिए केंद्र सरकार इस तरह के क़दम उठा रही है.

आम आदमी पार्टी के संस्थापक और अब पूर्व नेता योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया. इसमें लिखा, ‘रेवाड़ी (हरियाणा) में मैंने नौ दिन की पदयात्रा शुरू की है. किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) दिलाने के लिए यह आंदोलन शुरू किया है. शराब के ठेके बंद कराने के लिए अभियान चलाया है. और इसके शुरू होने के दो दिन बाद ही मेरी बहन के रेवाड़ी स्थित अस्पताल-सह-नर्सिंग होम में आयकर विभाग का छापा पड़ जाता है.’ उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा, ‘आप कृपया मुझ पर छापे डालिए. मेरे परिवार को क्यों निशाना बना रहे हैं?’

इसके बाद भी योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया. इसमें बताया, ‘आज छापे के दौरान दिल्ली से आए 100 से ज़्यादा लोगों का बल सुबह 11 बजे के क़रीब अस्पताल पहुंचा. वहां सभी डॉक्टरों (मेरी बहन, उनके पति और पुत्र सहित) को उनके चैम्बरों में ही बंद रखा गया. अस्पताल को सील कर दिया गया. यहां तक नवजात बच्चों के आईसीयू को बंद कर दिया गया. साफ तौर पर यह दबाव बनाने की कोशिश है. मोदी जी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) आप इस तरह मेरी आवाज़ बंद नहीं कर सकते.’