‘ओपेक दाम घटाए नहीं तो तेल बाजार में उसका हिस्सा गिरना तय है.’  

— संजीव सिंह, इंडियन आॅयल के चेयरमैन

देश की प्रमुख पेट्रोलियम कंपनी इंडियन आॅयल के चेयरमैन संजीव सिंह का यह बयान तेल उत्पादक देशों के संगठन - ओपेक से तेल के दाम घटाने की अपील करते हुए आया. उन्होंने कहा है, ‘पिछले डेढ़ महीने में कच्चे तेल के दाम जैसे बढ़े, यदि आगे भी यही हुआ तो यह तय है कि हमारे उपभोक्ता तेल के सस्ते विकल्पों का रुख करेंगे.’ संजीव सिंह के अनुसार इससे भारत के गैस और इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर जाने की गति तेज हो जाएगी. उन्होंने बताया कि ऐसा होने पर 2025 तक कच्चे तेल की खपत दस लाख बैरल रोजाना तक कम हो सकती है. इंडियन आॅयल के मुखिया ने बताया, ‘ दाम बढ़ने के बावजूद कच्चे तेल की मांग भले तात्कालिक तौर पर कम न हो पर लंबे समय में इसका घटना तय है.’

 ‘मुझे आतंकवादी करार देने के लिए भारत ने झूठे सबूत गढ़े.’  

— जाकिर नाइक, विवादास्पद इस्लामी उपदेशक

विवादास्पद इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक का यह बयान उसे भारत प्रत्यर्पित न करने के मलेशिया सरकार के फैसले के लिए उसे धन्यवाद देते हुए आया. इसके साथ नाइक ने कहा है, ‘फैसले तक पहुंचने के पहले मामले की निष्पक्ष पड़ताल करने के लिए मैं प्रधानमंत्री डॉ महातिर मोहम्मद का शुक्रिया अदा करता हूं.’ उसने आगे कहा, ‘जब तक मैं मलेशिया में रहूं​गा तब तक यहां के कानून का सम्मान करूंगा और शांति और सौहार्द की भी हिमायत करूंगा.’ जाकिर नाइक ने भारत पर आरोप लगाया कि उसके खिलाफ वीडियो से छेड़छाड़ करके और संदर्भ से बाहर के बयानों को इकट्ठा करके झूठे मामले बनाए गए हैं.


‘भाजपा को समझना चाहिए कि धारा 377 सेक्स का नहीं इंसान की आजादी का मामला है.’

— शशि थरूर, कांग्रेस के नेता

कांग्रेस नेता शशि थरूर का यह बयान धारा 377 को ‘असामान्य सेक्स प्रवृत्ति’ बताने वाले भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के कल के बयान के जवाब में बुधवार को आया. शशि थरूर ने कहा, ‘धारा 377 पर कोई स्पष्ट रुख न तय करके भाजपा ने हिंदू मूल्यों के साथ छल किया है. यह मामला हमारे संवैधानिक अधिकारों से भी जुड़ा है.’ उन्होंने आगे बताया कि हमारा संविधान लोगों को समानता, स्वतंत्रता, सम्मान और अपने शरीर पर पूरा अधिकार देता है. शशि थरूर ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल ही निजता को मौलिक अधिकार माना था. इस नाते हम सबको हक है कि हम रजामंदी से किसी के साथ भी संबंध बना सकें.’


‘यदि अभियुक्तों का सम्मान करने से गलत संदेश गया है तो मैं माफी मांगता हूं.’  

— जयंत सिन्हा, केंद्रीय नागर विमानन राज्यमंत्री

भाजपा नेता जयंत सिन्हा का यह बयान झारखंड के चर्चित रामगढ़ मॉब लिंचिंग कांड के अभियुक्तों का पिछले हफ्ते सम्मान करने के बाद हो रही आलोचना पर आया. उन्होंने कहा है, ‘मैंने कई बार कहा कि यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है. ऐसे में इस पर बात करना उचित नहीं होगा. कानून अपना काम करेगा.’ जयंत सिन्हा ने आगे कहा, ‘हमारी सरकार ने हमेशा दोषियों को दंडित करने और निर्दोषों की रक्षा करने के लिए काम किया है. इसके बावजूद यदि यह संदेश गया कि कानून अपने हाथ में लेकर सजा देने वालों का मैं समर्थन करता हूं तो मुझे इसका दुख है.’


‘प्रधानमंत्री किसानों की कर्जमाफी के साथ स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करें.’  

— अमरिंदर सिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का यह वक्तव्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य में एक किसान रैली को संबोधित करने के पहले आया. उन्होंने कहा, ‘हमें यह जानकर खुशी हुई कि प्रधानमंत्री जी आज पंजाब के किसानों को संबोधित करेंगे. उन्हें इस मौके पर किसानों की समस्याएं दूर करने के लिए कई जरूरी कदमों की घोषणा करनी चाहिए.’ अमरिंदर सिंह के अनुसार देश के जाने-माने कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन के नेतृत्व में बने आयोग की सिफारिशें और कर्जमाफी ऐसे उपाय हो सकते हैं. इसके साथ ही अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री से किसानों को निराश न करने की भी अपील की है.