भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को जदयू के प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है. इसके बाद उन्होंने दोनों दलों के बीच गठबंधन में दरार आने की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि यह गठबंधन आगे भी जारी रहेगा और दोनों पार्टियां 2019 का चुनाव मिलकर लड़ेंगी. माना जा रहा है कि इस मुलाकात में दोनों नेताओं के बीच अगले आम चुनाव में सीटों के बंटवारे के मुद्दे सहित तमाम मुद्दों पर बातचीत हुई है.

अमित शाह और नीतीश कुमार के बीच यह मुलाकात इसलिए अहम मानी जा रही थी क्योंकि रविवार को ही जदयू की तरफ से घोषणा की गई थी कि वह राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम के आगामी विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेगी. इस मुद्दे पर नीतीश कुमार का कहना था कि भाजपा से उनका गठबंधन बिहार तक सीमित है. जदयू के इस रुख के आधार पर इन अटकलों को बल मिला था कि दोनों पार्टियों के गठबंधन में दरार पड़ रही है.

हालांकि जून में नीतीश कुमार ने इस बात से इनकार किया था कि भाजपा और उनकी पार्टी के बीच कुछ मनमुटाव है. तब उन्होंने भी कहा था कि गठबंधन 2019 का लोक सभा चुनाव मिलकर लड़ेगा.