कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के ‘हिंदू पाकिस्तान’ वाले बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है. यह देखते हुए पार्टी ने सभी नेताओं के बहाने थरूर को बयान देते समय सावधानी बरतने को कहा है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आज एक ट्वीट कर कहा कि भाजपा और मोदी सरकार के बारे में बोलते हुए पार्टी के नेताओं को सावधानी बरतनी चाहिए.

इस ट्वीट में सुरजेवाला ने देश के बिगड़ते माहौल के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है, ‘मोदी सरकार देश में विभाजन, नफरत, कट्टरवाद, असहिष्णुता और ध्रुवीकरण को बढ़ावा देती है. दूसरी तरफ, कांग्रेस पार्टी अनेकता में एकता, विविधता, जातीयता और आस्था के बीच करुणा और सद्भावना के विचार का प्रतिनिधित्व करती है.’ इसके आगे कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि भारत को उसके मूल्य पाकिस्तान की विभाजनकारी विचारधारा से अलग करते हैं. इसी ट्वीट में सुरजेवाला ने पार्टी नेताओं को नसीहत दी है कि ‘भाजपा की नफरत की राजनीति’ को खारिज करते हुए उन्हें बातों और शब्दों के चयन में सावधानी बरतनी चाहिए.

बुधवार को तिरुवनंतपुरम में आयोजित एक कार्यक्रम में शशि थरूर ने भाजपा पर बड़ा हमला बोला था. इस दौरान उन्होंने कहा था कि अगर अगले चुनाव में भाजपा सत्ता में आई तो भारत को ‘हिंदू पाकिस्तान’ में बदल दिया जाएगा.’ उन्होंने कहा था, ‘भाजपा संविधान को बदल देगी और एक नया संविधान लिखेगी जिसमें भारत के लिए हिंदू राष्ट्र के सिद्धांत स्थापित किए जाएंगे और इसमें अल्पसंख्यकों का बराबरी का दर्जा खत्म कर दिया जाएगा.’

थरूर ने अपने इस बयान का बचाव भी किया है. उन्होंने कहा कि उन्होंने वही बात दोहराई है जो भाजपा का वैचारिक सलाहकार राष्ट्रीय स्वयंसेवक कहता रहा है. उनके बयान पर भाजपा ने माफी की मांग की है. इस पर थरूर ने सवाल करते हुए कहा, ‘मुझे नहीं पता कि मैं किस बात के लिए माफी मांगूं. अगर वे (भाजपा) हिंदू राष्ट्र के विचार से अब सहमत नहीं हैं तो उन्हें यह स्वीकार करना चाहिए. जब तक वे इस पर स्पष्टीकरण नहीं देते तब तक कोई और उनकी ही बात को दोहराने के लिए माफी कैसे मांग सकता है!’