केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल को सुबह आठ बजे से लेकर शाम आठ बजे तक ओपीडी (आउट पेशेंट डिपार्टमेंट) की सुविधा शुरू करने के लिए कहा है. ऐसा होते ही 12 घंटे ओपीडी सुविधा देने वाला सफदरजंंग देश का पहला सरकारी अस्पताल बन जाएगा.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक 12 घंटे वाली ओपीडी की सुविधाओं में सामान्य रोग, बाल रोग और सामान्य सर्जरी के अलावा प्रसूति व स्त्री रोग को शामिल किया जाएगा. आम तौर पर सरकारी अस्पतालों में सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक ओपीडी की सुविधाएं दी जाती हैं लेकिन, सफदरजंग अस्पताल में पहले से ही इन सुविधाओं का समय आठ से चार बजे तक का रखा गया है. अब इसमें और चार घंटों का इजाफा किया जा रहा है.

इस बारे में इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ हेल्थ मैनेजमेंट एंड रिसर्च के निदेशक डॉक्टर संजीव कुमार कहते हैं, ‘मौजूदा समय में ओपीडी जब काम करती है तो आॅफिस, स्कूल व कॉलेज जाने वालों के अलावा दिहाड़ी मजदूरी करने वालों समेत कई लोगों को इसकी सुविधा का लाभ नहीं मिल पाता. ऐसे में उन्हें निजी अस्पतालों और क्लीनिकों का रुख करना पड़ता है, इसलिए यह व्यवस्था की जा रही है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘ज्यादातर विकसित देशों में भी अस्पतालों में शाम के वक्त ओपीडी की सुविधाएं दी जाती हैं जहां लोग अपना काम खत्म करके डॉक्टरों से परामर्श कर सकते हैं. सफदरजंग अस्पताल में सुबह से शाम तक ओपीडी की पहल कामयाब होती है तो इसे अन्य विभागों और अस्पतालों में भी लागू करने पर विचार किया होगा.’

उधर, इस सुविधा को ​शुरू करने को लेकर सफदरजंग अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर अनुभव सांगवान ने कहा है, ‘चार विभागों की ओपीडी के काम के घंटों को बढ़ाए जाने के लिए 50 फीसदी अतिरिक्त डॉक्टरों की आवश्यकता है. काम के घंटे बढ़ने से निश्चित ही मरीजों की संख्या बढ़ेगी. ऐसे में डॉक्टरों के साथ नर्स और लैब टेक्नीशियन जैसे सहयोगी स्टाफ बढ़ाने व बुनियादी सुविधाएं तैयार करने के बाद इस पहल को शुरू किया जाना चाहिए.’