वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद की शनिवार को हुई 28वीं बैठक में कई अहम फैसले किए गए हैं. इनमें सबसे बड़ा फैसला सैनेटरी नैपकिन पर से जीएसटी हटाया जाना है. इस उत्पाद को जीएसटी के दायरे से मुक्त करने की बीते काफी समय से मांग की जा रही थी. इससे पहले इस पर 12 प्रतिशत का टैक्स लगाया जा रहा था.

वित्त मंत्री पीयूष गोयल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कुछ अन्य वस्तुओं पर भी राहत दी गई है. ताजा व्यवस्था के अनुसार बांस की फ्लोरिंग पर लगाए जाने वाले 18 फीसदी के जीएसटी को घटाकर 12 फीसदी कर दिया गया है. इसी तरह पेट्रोल में इस्तेमाल किए जाने वाले एथनॉल पर जीएसटी को 18 से घटाकर पांच फीसदी किए जाने की घोषणा की गई है. इस बैठक के बाद टेलीविजन, रेफ्रिजरेटर और वॉशिंग मशीन जैसे उत्पादों के दाम में कमी आएगी क्योंंकि इन पर से भी 28 फीसदी के जीएसटी को घटाकर 18 फीसदी पर ले आया गया है.

खबरों के मुताबिक बैठक में रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया सरल करने को भी मंजूरी दी गई है. इसके साथ ही जीएसटी परिषद ने फैसला किया है कि पांच करोड़ रुपये तक के वार्षिक टर्नओवर वाले कारोबारियों को अब हर तीन महीने में जीएसटी रिटर्न भरना पड़ेगा. वहीं इससे ऊपर के टर्नओवर वाले कारोबारियों को हर महीने रिटर्न दाखिल करना होगा.