जापानी ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा की सहयोगी कंपनी लेक्सस ने भारत में अपनी नई सेडान ईएस 300 एच लॉन्च कर दी है. 300 एच, ईएस की सातवीं जेनरेशन है. इस कार को वैश्विक स्तर पर इसी साल अप्रैल में बीजिंग मोटर शो के दौरान पेश किया गया था.

लेक्सस ने ईएस 300 एच को बिल्कुल नए प्लेटफॉर्म- के {जीए-के} पर तैयार किया है जिसकी वजह से यह कार पहले से ज्यादा हल्की और आकार में बड़ी बनाई जा सकी है. इसके अलावा लुक्स और फीचर्स के मामले में भी नई जेनरेशन ईएस को कंपनी ने कई खूबियों से नवाज़ा है.

लेक्सस ने ईएस 300 एच को इससे महंगी सीरीज़ एलएस जैसा लुक देने की कोशिश की है. फिर चाहे वह कार के फ्रंट में इस्तेमाल की गईं घुमावदार ग्रिल हो या नई डिज़ायन के फॉगलैंप्स या फिर 18-इंच के मल्टी स्पॉक अलॉय व्हील्स, कंपनी अपनी कवायद में सफल दिखती है. वहीं आरसी कूपे जैसी हेडलाइट्स, क्रोम इंसर्ट बंपर और बूट लिड स्पॉयलर के साथ बिल्कुल नई टेललाइट इस कार की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं.

लेक्सस की सभी कारों की तरह ईएस 300 एच के भी केबिन में खासा स्पेस देखने को मिलता है. पूरी तरह ड्राइवर को ध्यान में रखकर तैयार किए गए इस केबिन में एनालॉग टैकोमीटर के साथ एलसीडी स्क्रीन वाला इंस्ट्रुमेंट क्लस्टर और नेविएगेशन के साथ 12.3 इंच स्क्रीन वाला इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है. ग्राहकों के लिए कंपनी ने कार के केबिन को चार रंगों के विकल्प और तीन तरह ट्रिम्स के साथ पेश किया है.

यदि अन्य खूबियों की बात करें तो कार के अंदर आपको एडजस्टेबल सीटें और 17 स्पीकरों वाले मार्क लेविन्सन प्योर प्ले सिस्टम के साथ वायरलैस चार्जिंग देखने को मिलती है. सुरक्षा मानकों की दृष्टि से इस कार के साथ 10 एयरबैग्स, हिल स्टार्ट असिस्ट, व्हीकल स्टेबिलिटी कंट्रोल और एंटी थैफ्ट सिस्टम के साथ ब्रेक-इन और टिल्ट सेंसर्स मिलते हैं.

परफॉर्मेंस के लिहाज से इस कार में इलेक्ट्रिक मोटर से जुड़ा 2.5 लीटर का चार सिलेंडर वाला पेट्रोल इंजन दिया गया है जो कि 212 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 213 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस इंजन से यह सारी ताकत एक इलेक्ट्रॉनिक्ली कंट्रोल्ड कंटीन्यूअस वेरिएबल ट्रांसमिशन (सीवीटी) के जरिए कार के अगले पहियों तक पहुंचाई जाती है. कंपनी का दावा है कि यह हाइब्रिड कार 22.37 किलोमीटर/लीटर जैसी शानदार माइलेज देती है.

इसके अलावा कंपनी का यह भी कहना है कि ईएस 300 एच 0 से 100 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार तक पहुंचने में सिर्फ 8.1 सेकंड का समय लेती है और इस कार की अधिकतम रफ़्तार 180 किलोमीटर/घंटा है.

भारत में इस कार के लिए 59.13 लाख रुपए (एक्सशोरूम) की कीमत तय की गई है जिसके साथ यह कार देश के बाजार में मर्सिडीज़ बेंज ई-क्लास, बीएमडब्ल्यू 5-सीरीज़ और ऑडी 6 जैसी सेडान के साथ वॉल्वो एक्ससी-6, जीप रैंगलर और जगुआर एफ-पेस जैसी एसयूवी कारों को टक्कर दे सकती है.

जैज़ का फेसलिफ्ट वर्ज़न लॉन्च

जापान की ही अन्य प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी होंडा ने भारत में अपनी लोकप्रिय हैचबैक जैज़ का फेसलिफ्टेड वर्जन इस गुरुवार को लॉन्च कर दिया है. गौरतलब है कि होंडा ने जैज़-2018 के कार लाइन-अप में बड़ा बदलाव किया है. कंपनी ने इस हैचबैक के पेट्रोल वर्जन के बेस ट्रिम मॉडल ‘ई’ व ‘एस’ और इसके डीजल लाइन-अप से ‘ई’ वेरिएंट को बाज़ार से हटा लिया है. इस तरह होंडा के जैज़ के बाज़ार में अब से चार मॉडल पेट्रोल और तीन मॉडल डीज़ल इंजन के साथ उपलब्ध हो पाएंगे.

अभी बाज़ार में जैज़ के 2014- एडिशन को ही बेचा जा रहा था लेकिन मारुति बलेनो के आने से इस सेगमेंट की दूसरी गाड़ियों की तरह जैज़ की बिक्री भी बुरी तरह प्रभावित हुई. ऐसे में इस कार को बाज़ार में बनाए रखने के लिए इसका फेसलिफ्टेड वर्जन लॉन्च करना कंपनी के लिए बहुत जरूरी हो गया था. फिलहाल बाज़ार में जैज़ बिक्री के लिहाज से ह्युंडई की आई-20 के बाद सेगमेंट में तीसरे पायदान पर है. बाज़ार में ऑटोमेटिक कारों की बढ़ती मांग को देखते हुए होंडा ने जैज़ के ‘वी’ और ‘वीएक्स’ (पेट्रोल) मॉडल के साथ सीवीटी ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन उपलब्ध करवाया है. वहीं कार का डीज़ल वेरिएंट अभी मैनुअल गियरबॉक्स के साथ ही मिलता है.

नई जैज़ को होंडा ने अपनी उसी डिज़ायन लैंग्वेज का इस्तेमाल करके बनाया है, जिसे उसने अपनी हालिया लॉन्च हुई कारों में दिया है. कंपनी ने इस हैचबैक को सिग्नेचर ‘सॉलिड विंग फेस’ हैडलाइट्स और ग्रिल डिज़ाइन के साथ नए फ्रंट बंपर और रेड अंडरलाइन एक्सेंट दिए हैं. साथ ही इसमें पहले से आकर्षक एसी वेंट दिए गए हैं. कार की ग्रिल, ओवीआरएम और मल्टी-स्पोक अलॉय को ब्लैक फिनिश के साथ खूबसूरत बनाया गया है. हालांकि कार का रियर लुक काफी हद तक अपने पिछले वर्जन की याद दिलाता है लेकिन यहां दिए गए नए बंपर और नई टेल लाइट्स जैज़-2018 को एक फ्रेश लुक देते हैं.

यदि कार की अन्य प्रमुख खूबियों की बात करें तो इसके केबिन में आपको टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम मिलता है जो एपल कार प्ले और एंड्रॉइड ऑटो जैसे फीचर्स से लैस है. कंपनी ने परफॉर्मेंस के मामले में कार में कुछ खास बदलाव नहीं किए हैं. यहां आपको वही पुराना 1.2-लीटर का पेट्रोल और 1.5-लीटर क्षमता का डीजल इंजन विकल्प के तौर पर मिलता है. अलग-अलग वेरिएंट के हिसाब से इस कार की एक्सशोरूम कीमत 7.35 लाख रुपए से लेकर 9.29 लाख रुपए तक जाती है.

टाटा ने नेक्सन का किफ़ायती ऑटोमेटिक वेरिएंट बाज़ार में उतारा

देश की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा ने अपनी लोकप्रिय कॉम्पैक एसयूवी नेक्सन का किफ़ायती ऑटोमेटिक वेरिएंट ‘एक्सएमए’ बाज़ार में उतार दिया है. यानी अब से बाज़ार में नेक्सन के एक्सएमए और ज़ेडएमए प्लस दोनों ट्रिम ऑटोमेटिक विकल्प के साथ मिल सकेंगे. कंपनी ने इस कार के पेट्रोल वेरिएंट की दिल्ली एक्सशोरूम कीमत 7.50 लाख रुपए रखी है जो डीजल वेरिएंट के लिए 8.53 लाख रुपए तक जाती है.

गौरतलब है कि कंपनी ने एक्सएमए एमटी को डीज़ल और पेट्रोल दोनों इंजन विकल्पों के साथ उपलब्ध करवाया है. अभी तक टाटा मोटर्स इस एसयूवी के टॉप मॉडल एक्सज़ेड को ही ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन विकल्प के साथ उपलब्ध करा रही थी. लेकिन पिछले दिनों सेगमेंट की टॉप कार मारुति-सुज़ुकी ब्रेज़ा के ऑटोमेटिक वर्जन के लॉन्च होने के बाद बाज़ार में अपनी पकड़ बरकरार रखने के लिए टाटा ने यह कार पेश की है. इंजन की बात करें तो कंपनी ने इसमें गाड़ी के मौजूदा मॉडल की तरह 1.2-लीटर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन और 1.5-लीटर नेचुरली एस्पिरेटेड डीजल इंजन दिया है.

टाटा मोटर्स ने नेक्सन को पिछले साल सितंबर में लॉन्च किया था. तब से ही यह कार शानदार प्रदर्शन करने में सफल रही है जिसके चलते पैसेंजर व्हीकल यानी सवारी गाड़ी सेगमेंट में लगातार वापसी की कोशिश कर रही टाटा मोटर्स को भी खासा सहारा मिला है. अब तक नेक्सन की करीब 30,000 यूनिट बिक चुकी हैं जो सेगमेंट के लिहाज से सम्मानजनक आंकड़ा है.