पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने आरोप लगाया है कि मुल्क के ‘चुनाव नतीज़ों पर डाका डाला गया है.’ उन्होंने चुनाव नतीजाें ‘दागदार और संदिग्ध’ बताते हुए यह भी कहा कि इनसे दुनिया के सामने देश की छवि ख़राब होगी. उन्होंने यह भी दावा किया कि इस बार इमरान खान की हालत 2013 के चुनाव से भी ज़्यादा ख़राब थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने पाकिस्तानी अख़बार डॉन के हवाले से यह ख़बर दी है. इसके मुताबिक नवाज़ शरीफ ने रावलपिंडी की अडियाला जेल में मिलने आए अपने समर्थकों से बातचीत के दौरान यह प्रतिक्रिया दी. गुरुवार के दिन उनके समर्थकों-परिचितों आदि को नवाज़ से मिलने की इजाज़त दी जाती है. नवाज़ अपनी बेटी मरियम और दामाद सफदर के साथ भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में हैं. इन सभी से मुलाक़ात का दिन गुरुवार ही तय किया गया है.

मुलाक़ात के दौरान नवाज़ ने फैसलाबाद, लाहौर और रावलपिंडी के नतीज़ों पर अपनी चिंता जताई. उन्होंने कहा कि इन सभी इलाकों में उनकी पार्टी (पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़) के उम्मीदवार मज़बूत स्थिति में थे. लेकिन उन्हें पराजित घोषित कर दिया गया. जबकि इसके ठीक उलट ख़ैबर पख़्तूनख़्वा में इमरान खान की पार्टी (पाकिस्तान तहरीक़-ए-इंसाफ) को फिर विजेता घोषित कर दिया गया. जबकि उसकी पिछली सरकार का प्रदर्शन काफी ख़राब रहा था.