पाकिस्तान में आम चुनाव के नतीजे आने के बाद से अटकलें लग रही थीं कि इमरान खान के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित सार्क देशों के प्रमुखों को आमंत्रित किया जा सकता है. लेकिन अब इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने इन सभी अटकलों को खारिज कर दिया है.

इमरान खान 11 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे. कुछ समय पहले तक पीटीआई इस समारोह को भव्य रूप देने पर विचार कर रही थी, लेकिन अब इस कार्यक्रम को सादगी के साथ आयोजित करने का फैसला किया गया है. इस बारे में पीटीआई के प्रवक्ता फवाद चौधरी की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘शपथ ग्रहण समारोह को बेजा खर्च से बचाने के लिए इसे पूरी तरह राष्ट्रीय कार्यक्रम के तौर पर आयोजित किए जाने का फैसला किया गया है. इसीलिए पार्टी विदेशी नेताओं को न्योता नहीं भेज रही है. इस कार्यक्रम में देश के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान के कुछ करीबी विदेशी मित्र जरूर शामिल हो सकते हैं.’

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक शपथ ग्रहण समारोह का हिस्सा बनने के लिए इमरान खान ने भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों सुनील गावसकर, कपिल देव और नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान को निमंत्रण भेजा है. हालांकि सार्वजनिक तौर पर अब तक सिर्फ नवजोत सिंह सिद्धू ने ही न्योता मिलने और इसे स्वीकार करने की घोषणा की है.

सिद्धू ने इमरान खान को एक चरित्रवान इंसान बताते हुए कहा है कि वे इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाएंगे. उन्होंने इसे अपने लिए सम्मान की बात भी कही है. इस बीच इस कार्यक्रम को लेकर आमिर खान की तरफ से भी एक बयान आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि इमरान खान की तरफ से उन्हें अभी तक कोई निमंंत्रण नहीं मिला है और न ही वे इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान जाने वाले हैं.