अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच एक-दूसरे को आंखें दिखाने का दौर फिलहाल तो पूरी तरह थमा हुआ लग रहा है. बल्कि इसके उलट अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस वक़्त उत्तर कोरिया के शासन प्रमुख किम जोंग उन की तरफ से मिल रही सकारात्मक प्रतिक्रिया से काफी ख़ुश बताए जाते हैं. यही वज़ह है कि उन्हाेंने उन से जल्द ही फिर मुलाक़ात का वादा किया है. दोनों नेताओं के बीच पहली मुलाक़ात सिंगापुर में 12 जून को हुई थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई की ख़बर के अनुसार उत्तर कोरिया ने अभी हाल में कोरियाई युद्ध के समय मारे गए लगभग 55 अमेरिकी सैनिकों के अवशेष अमेरिका के अधिकारियों को सौंपे हैं. ये अधिकारी ख़ास तौर इसके लिए उत्तर कोरिया गए थे. बताया जाता है कि इसके साथ किम जोंग उन ने डोनाल्ड ट्रंप को एक पत्र भी भेजा है. यह एक अगस्त को ही ट्रंप को सौंपा गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सराह सैंडर्स ने इसकी पुष्टि की. ख़ुद ट्रंप ने इस बाबत ट्वीट किया.

अपने ट्वीट में ट्रंप ने लिखा, ‘आपका बहुत-बहुत शुक्रिया चेयरमैन (उत्तर कोरिया के शासन और राष्ट्र प्रमुख का पदनाम) किम जोंग उन कि आपने अपना वादा (शहीद अमेरिकी सैनिकों के अवशेष अमेरिका को सौंपने का) पूरा किया. मुझे आपके इस सह्रदयता पर ज़रा भी अचरज़ नहीं हुआ. आपने मुझे जो पत्र लिखा है उसके भी आपका धन्यवाद. मैं आपसे जल्द ही फिर मिलने की उम्मीद कर रहा हूं.’ वैसे पिछले महीने ही ख़बर आई थी कि उन ने अमेरिका की यात्रा का ट्रंप का न्यौता स्वीकार कर लिया है.

बताते चलें कि 12 जून की सिंगापुर शिखर वार्ता के दौरान दोनों नेताओं में कोरियाई युद्ध में शहीद अमेरिकी सैनिकों के अवशेष अमेरिका को सौंपने पर सहमति बनी थी. एक आकलन के मुताबिक 1950-53 के कोरियाई युद्ध में 8,000 के लगभग अमेरिकी सैनिक शहीद हुए थे.