महिला हॉकी विश्वकप - 2018 के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में आयरलैंड ने भारत पर 3-1 से जीत दर्ज करके सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली है. गुरुवार को ली वैली हॉकी सेंटर में खेले गए इस मुकाबले का परिणाम पेनल्टी शूटआउट से निकला. आयरलैंड को इसमें तीन जबकि भारतीय टीम को सिर्फ एक गोल करने में ही सफलता मिल सकी.

इस मुकाबले में दोनों टीमों की तरफ से आक्रमण और रक्षा का मिला-जुला खेल देखने को मिला. दोनों टीमें गोल खाने से बचने की पूरी कोशिश में दिखीं. यही वजह भी रही कि इस मैच का पहला पेनल्टी कॉर्नर 49वें मिनट में आया. लेकिन कप्तान रानी रामपाल भारत को मिले इस शानदार मौके को गोल में तब्दील करने में नाकामयाब रहीं.

इस बीच आयरिश खिलाड़ियों ने भी गोल करने के कुछ अवसर बनाए लेकिन, मैच का आधिकारिक 60 मिनट का वक्त पूरा होने तक किसी टीम को कोई गोल करने में सफलता नहीं मिल पाई. फिर मुकाबले का नतीजा निकालने के लिए पेनल्टी शूटआउट का फैसला किया गया.

पेनल्टी शूटआउट का पहला स्ट्रोक आयरलैंड की तरफ से लिया गया लेकिन, यह स्ट्रोक खाली गया. दूसरे पेनल्टी स्ट्रोक को भारतीय गोलकीपर सविता ने शानदार तरीके से बचा लिया. लेकिन इसके बाद आयरलैंड के खिलाड़ियों ने बाकी बचे तीनों मौकों में कोई गलती नहीं की और तीनों बार गेंद को गोल में पहुंचा दिया. उधर, भारतीय टीम को मिले मौकों में सिर्फ रीना खोखर ही गेंद को गोल के भीतर डालने में कामयाब हुईं. इस तरह भारत को इस मुकाबले में 3-1 से हार का सामना करना पड़ा.

इस विश्वकप में भारत को लगातार दूसरी बार आयरलैंड से हार का सामना करना पड़ा. इससे पहले लीग मुकाबले में भी उसने भारत को 1-0 से परास्त किया था. इसके अलावा भारत ने इंग्लैंड और अमेरिका के साथ अपने लीग मुकाबले 1-1 गोल से बराबरी पर खेले थे. क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए हुए क्रॉसओवर मुकाबले में भारत ने इटली को 3-0 से पटखनी दी ​थी.