‘बिहार में ‘राक्षस राज’ है जहां हर रोज एक ‘सीता’ का अपहरण होता है.’  

— तेजस्वी यादव, राष्ट्रीय जनता दल के नेता

तेजस्वी यादव ने यह बयान बिहार में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर दिल्ली के जंतर मंतर पर आयोजित एक धरना-प्रदर्शन के दौरान दिया है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना करते हुए उन्होंने यह भी कहा है कि प्रदेश में प्रतिदिन एक ‘दुर्योधन’ एक ‘द्रौपदी’ का चीरहरण करता है. तेजस्वी यादव ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर मुजफ्फरपुर बालिका गृह के संचालक बृजेश ठाकुर को इस मामले में बचाने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया है. हालांकि नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा था कि इस बालिका गृह में बच्चियों का यौन शोषण करने वाले दोषियों को वे कड़ी सजा दिलाएंगे.


‘भारतीय जनता पार्टी धर्म के नाम पर लोगों का गुमराह कर रही है.’ 

— सचिन पायलट, राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष

सचिन पायलट का यह बयान राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया की ‘राजस्थान गौरव यात्रा’ को लेकर आया. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रदेश की मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए सचिन पायलट ने कहा है कि भाजपा और इसके नेता धर्म और मंदिरों की बात सिर्फ चुनाव में राजनीतिक फायदा उठाने के उद्देश्य से करते हैं. इस बीच उन्होंने आरोप लगाया है कि मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए जयपुर में 300 मंदिर ढहा दिए गए. इससे यहां रखी देवी-देवताओं की अनेक मूर्तियां खंडित या फिर चोरी हो गईं और इसके बावजूद मंदिर और धर्म की रजनीति करने वाली भगवा पार्टी और इसकी मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे पर कुछ नहीं कहा.


‘भारतीय टीम को अपनी बल्लेबाजी पर और ज्यादा ध्यान देना होगा.’  

— विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

विराट कोहली ने यह बात इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गंवाने के बाद कही. इसके साथ ही उनका कहना था कि आगे के मुकाबलों में जीत दर्ज करने के लिए भारतीय बल्लेबाजों को नियं​त्रण के साथ सही शॉट का चुनाव करते हुए बल्लेबाजी करनी होगी. अपने साथी खिलाड़ियों से उन्होंने इंग्लैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों से सबक लेने की बात भी कही है. भारत की तरफ से इस टेस्ट मैच में विराट कोहली के अलावा कोई अन्य बल्लेबाज टिककर बैटिंग नहीं कर पाया था.


‘नई सरकार के गठन से भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में सुधार होगा.’ 

— सोहैल महमूद, भारत में पाकिस्तान के राजदूत

सोहैल महमूद ने यह बयान पाकिस्तान में इमरान खान के नेतृत्व में गठित होने वाली नई सरकार के मद्देनजर दिया है. उन्होंने कहा है कि हाल में हुए चुनाव के नतीजे आने के फौरन बाद इमरान खान ने भारत से रिश्ते मजबूत करने की बात कही थी और आपसी समस्याओं को बातचीत के जरिये हल करने पर जोर दिया था. भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्तों में 2008 के मुंबई आतंकी हमलों के बाद खटास पैदा हुई थी और फिर सितंबर 2016 में जम्मू-कश्मीर के उड़ी में स्थित सेना के एक कैंप पर आतंकवादी हमले के बाद यह तनाव और ज्यादा बढ़ गया था.