केरल में राजनीतिक हिंसा का दौर थमता नजर नहीं आ रहा है. रविवार रात राज्य के कासरगोड जिले में अज्ञात हमलावरों ने एक सीपीएम कार्यकर्ता की हत्या कर दी. मनोरमा ऑनलाइन के मुताबिक मृतक की पहचान 25 वर्षीय अबू बकर सिद्दीकी के रूप में की गई है. विदेश में रहने वाला अबू बकर छुट्टी मनाने के लिए वह घर आया हुआ था. पुलिस के अनुसार कुछ अज्ञात बाइक सवारों ने रात करीब 11 बजे हमला किया. उधर, सत्ताधारी सीपीएम ने इस हत्या का आरोप भाजपा और संघ के कार्यकर्ताओं पर लगाया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पार्टी ने सोमवार दोपहर हड़ताल का आह्वान किया है. क्षेत्र में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है.

केरल में पिछले डेढ़ दशक से दोनों पार्टियों के बीच वर्चस्व की हिंसक लड़ाई जारी है. इस दौरान हुई राजनीतिक हत्याओं का कोई आधिकारिक आंकड़ा तो नहीं है, लेकिन आरटीआई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 2000 से 2016 के बीच दोनों पक्षों के कम से कम 30 कार्यकर्ताओं ने इस हिंसा में अपनी जान गंवाई है. इस दौरान अकेले कन्नूर जिले में 69 राजनीतिक हत्यायें रिपोर्ट की गई हैं.