दिल्ली पुलिस ने नौ साल के बच्चे के साथ यौन दुर्व्यवहार के मामले में तीन छात्रों के खिलाफ केस दर्ज किया है. पीटीआई के मुताबिक यह विवेक विहार की घटना है. यहां एक निजी स्कूल में चौथी कक्षा में पढ़ने वाले नौ साल के एक छात्र ने स्कूल बस में कुछ बड़े छात्रों द्वारा यौन शोषण की शिकायत की थी. इसके बाद पुलिस ने यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (पॉस्को) के तहत मामला दर्ज कर लिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बच्चे के माता-पिता ने सोमवार को शिकायत दर्ज कराई थी. बच्चे ने पुलिस को दिए अपने बयान में कहा है कि आरोपितों ने 27 जुलाई, 30 जुलाई और एक अगस्त को उसके साथ गलत काम किया था. उसके मुताबिक उसने इसकी शिकायत एक शिक्षक से भी की थी लेकिन शिक्षक ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और कहा कि वह बहुत क्यूट है इसलिए सीनियर बच्चे उसके साथ मजाक कर रहे हैं.’ इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार पुलिस उपायुक्त मेघना यादव ने कहा है कि मामले में स्कूल प्रशासन की भूमिका की जांच की जा रही है.

इधर स्कूल ने आरोपों का खंडन किया है. स्कूल के वाइस प्रिंसिपल का कहना है, ‘हमें दो अगस्त को बच्चे के साथ छेड़छाड़ की सूचना मिली थी. हमने इस बारे में उस वक्त बस में मौजूद शिक्षिका से पूछा था. शिक्षिका ने हमें बताया कि यह बच्चों के बीच होने वाली सामान्य लड़ाई थी. इसलिए हमने बच्चों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें निष्कासित कर दिया. छेड़छाड़ जैसा कुछ भी नहीं हुआ था.’ उन्होंने कहा कि स्कूल को बदनाम करने में कुछ लोगों के निजी हित छिपे हुए हैं, इसलिए पुलिस में शिकायत की गई है.

उधर, बच्चे के माता-पिता ने कहा कि स्कूल मामले को रफा-दफा करने की कोशिश कर रहा है. उनके मुताबिक उन्हें स्कूल से इस संंबंध में फोन भी आया था. फिलहाल पीड़ित बच्चे और तीनों आरोपितों की काउंसलिंग की जा रही है.