तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और द्रमुक नेता एम करुणानिधि के निधन के बाद उनके पुत्र एमके स्टालिन ने उनकी याद में एक भावुक पत्र लिखा है. इस पत्र को उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट के जरिए शेयर किया है. स्टालिन ने यह पत्र तमिल भाषा में लिखा है. वे लिखते हैं, ‘आपको अप्पा (पिता) पुकारने के बजाय मैंने हमेशा आपको थलाइवा (नेता) पुकारा है. थलाइवा, क्या मैं आपको एक बार अप्पा कहकर पुकार सकता हूं.”

स्टालिन ने अपने पत्र में लिखा है, ‘आप मुझे बिना बताए कहां चले गए? आप जहां भी जाते थे मुझे जरूर बताते थे.’ पत्र में अपने दिवंगत पिता से उन्होंने यह भी पूछा है कि क्या वे तमिल समुदाय के लिए अपने किए गए कामों से संतुष्ट होकर विदा हुए हैं? या वे यह देखने के लिए कहीं छिप गए हैं कि सार्वजनिक जीवन में उन्होंने जो उपलब्धियां हासिल की हैं उन्हें कोई और हासिल कर पाता है या नहीं. स्टालिन ने अपने पत्र में लिखा है, ‘हमें आपके अधूरे सपने और आदर्शों को पूरा करने के लिए अपके प्यार की जरूरत है.’

करुणानिधि पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे. 94 साल का यह दिग्गज कई दिनों से उम्र संबंधी बीमारियों से जूझ रहा था. मंगलवार शाम चेन्नई के एक निजी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली. करुणानिधि ने दक्षिण भारतीय सिनेमा में बतौर पटकथा और संवाद लेखक के तौर पर भी काम किया है. उन्होंने कई पुस्तकें भी लिखी हैं.