‘कलैनार मेरे पिता समान थे, उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है.’

— सोनिया गांधी, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष

सोनिया गांधी ने यह बात एम करुणानिधि के निधन पर द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन को भेजे गए एक भावुक संदेश में कही है. इस संदेश में उन्होंने यह भी कहा है कि तमिलनाडु की राजनीति में करुणानिधि ने जो छाप छोड़ी है उसके लिए उन्हें सदैव याद रखा जाएगा. सोनिया गांधी के मुताबिक करुणानिधि का उनके प्रति विशेष स्नेह था जिसे वे अपनी निजी जिंदगी में कभी नहीं भुला सकेंगी. बीते कुछ समय से बीमार चल रहे एम करुणानिधि ने मंगलवार को आखिरी सांस ली थी. बुधवार की शाम चेन्नई के मरीना बीच पर उनका अंतिम संस्कार किया गया.


‘महात्मा गांधी जिन्ना को प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे पर नेहरू इसके लिए तैयार नहीं थे.’

— दलाई लामा, तिब्बत के धर्म गुरु

दलाई लामा ने यह बात गोवा इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पूछे गए एक सवाल के जवाब में कही. उन्होंने इसे पंडित जवाहरलाल नेहरू का आत्मकेंद्रित रवैया भी बताया. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर पंडित नेहरू ने महात्मा गांधी की बात मान ली होती तो भारत और पाकिस्तान आज एक ही मुल्क होते. दलाई लामा ने आगे कहा कि वे अच्छी तरह जानते हैं कि पंडित नेहरू बुद्धिमान और एक अनुभवी शख्सियत थे लेकिन जिंदगी में हर इंसान से गलतियां हो जाती हैं. इस कार्यक्रम में उन्होंंने कई दूसरे मुद्दों पर भी बेबाकी से अपनी राय रखी.


‘आम आदमी पार्टी बीके हरिप्रसाद को तभी समर्थन देगी जब राहुल गांधी इसके लिए अरविंद केजरीवाल से बात करेंगे.’

— संजय सिंह, आम आदमी पार्टी के नेता

संजय सिंह का यह बयान बृहस्पतिवार को राज्यसभा के उप सभापति पद को लेकर होने वाले चुनाव के मद्देनजर आया है. इस दौरान संजय सिंह ने यह भी कहा कि राहुल गांधी यदि संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गले लग सकते हैं तो वे अपने प्रत्याशी के समर्थन के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के मुखिया से बात भी कर सकते हैं. इस दौरान राहुल गांधी पर तंज कसते हुए उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति के चुनाव के दौरान आप ने कांग्रेस के प्रत्याशियोंं का समर्थन किया लेकिन बदले में कांग्रेस ने आप को शुक्रिया तक नहीं कहा.


‘सरकारी आदेश के बावजूद अधिकारियों ने समय पर उचित कार्रवाई नहीं की.’

— योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

योगी आदित्यनाथ का यह बयान देवरिया के महिला संरक्षण गृह के मामले पर आया है. प्रदेश सरकार ने अब केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से इस मामले की जांच कराए जाने की सिफारिश का फैसला किया है. इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि सीबीआई जांच शुरू होने तक मामले की छानबीन के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया जाएगा ताकि सबूतों के साथ कोई छेड़छाड़ न हो. देवरिया के महिला संरक्षण गृह में यौन शोषण का यह मामला बीते महीने की 29 तारीख को सामने आया था.