हरियाणा के रोहतक में झूठी शान के नाम पर एक और हत्या का मामला सामने आया है. खबरों के मुताबिक बुधवार पेशी पर आई एक 18 वर्षीय युवती और उसकी सुरक्षा के लिए मौजूद पुलिसकर्मी की अज्ञात बाइक सवार लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी. ट्रिब्यून ने रोहतक पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा के हवाले से बताया कि प्राथमिक जांच में यह झूठी शान के लिए हत्या ( ऑनर किलिंग) का मामला लगता है. उन्होंने बताया कि युवती जाट समुदाय से थी और उसने अपने परिजनों की मर्जी के खिलाफ एक दलित युवक से शादी की थी. फिलहाल इस मामले में युवती के पिता और अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

हिंदुस्तान टाइम्स ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया कि युवती के परिजनों ने शादी के वक्त उसके नाबालिग होने की रिपोर्ट लिखाई थी, जिसके बाद युवती के पति को गिरफ्तार कर रोहतक जेल भेज दिया गया था. युवती ने उस समय अपने परिजनों के साथ जाने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद उसे करनाल के नारी निकेतन भेज दिया गया. फिलहाल इस मामले की सुनवाई अदालत में चल रही थी और बुधवार को युवती सब इंस्पेक्टर नरेंद्र कुमार और एक महिला कांस्टेबल की सुरक्षा में रोहतक कोर्ट आई थी. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पेशी के बाद वापस लौटते समय अज्ञात बाइक सवार लोगों ने युवती पर गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिनकी चपेट में सब इंस्पेक्टर नरेंद्र कुमार भी आ गए. दोनों को घायल अवस्था में अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने जल्द ही आरोपितों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया है.