क्या दो के बाद अब चीन सरकार तीन बच्चों की इजाजत भी दे सकती है? चीन सरकार के मुखपत्र चाइना पोस्ट द्वारा बीते सोमवार को अपनी वेबसाइट पर अगले साल की शुरुआत में जारी किए जाने वाले एक डाक टिकट की तस्वीर प्रकाशित की है. इस डाक टिकट में दो सूअरों के साथ तीन बच्चों को दिखाया गया है. इससे अटकलें लग रही हैं कि निकट भविष्य में चीन अपनी जनसंख्या नीति में बदलाव कर सकता है.

द टाइम्स आॅफ इंडिया के मुताबिक बढ़ती आबादी को देखते हुए चीन ने 1979 में ‘एक बच्चा नीति’ का अनुसरण किया था. इस नीति से उसे जनसंख्या नियंत्रण में बेहद फायदा भी हुआ. इसके बाद साल 2016 में एक बच्चे की नीति में ढील देते हुए शहरी इलाकों में दो बच्चे पैदा करने की छूट दी गई. दो बच्चों का नियम लाने के करीब चार महीने पहले भी चीन सरकार ने एक डाक टिकट जारी किया था जिसमें बंदर के एक परिवार को दो बच्चों के साथ दिखाया गया था.

संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएन) के जनसंख्या विभाग के आंकड़ों के मुताबिक साल 2017 में चीन की कुल आबादी के 16.2 फीसदी लोग ऐसे हैं जिनकी उम्र 60 साल या फिर इससे अधिक है. साल 1950 में यह आंकड़ा 7.4 प्रतिशत का था. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के आंकड़ों के मुताबिक 2016 में चीन द्वारा दो बच्चों की नीति अपनाए जाने के बाद साल 2017 में यहां नवजात शिशुओं की संख्या 1,75,80000 पर पहुंची थी. हालांकि यह आंकड़ा राष्ट्रीय पूर्वानुमान से 12 फीसदी कम था. इसकी वजह सामाजिक असुरक्षा के अलावा आय में मामूली वृद्धि की वजह से बड़े परिवारों के प्रति लोगों के कम झुकाव को माना गया था.