‘सदन की कार्यवाही में कई अनुभवी सदस्य मेरे साथ होंगे, यही मेरी ताकत है.’  

— हरिवंश नारायण सिंह, राज्यसभा के उप सभापति

हरिवंश नारायण सिंह ने यह बात राज्यसभा का उप सभापति चुने जाने के बाद राज्यसभा में दिए गए अपने पहले संबोधन के दौरान कही. इस संबोधन में उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पूरी कोशिश होगी कि वे सदन की कार्यवाही पूरी निष्पक्षता और शालीनता के साथ चलाएं. इसके लिए उन्होंने सदस्यों से सहयोग की अपील भी की. हरिवंश नारायण सिंह ने आगे कहा कि सदन की बहस में विचारों की भिन्नता हो सकती है, लेकिन हमें एक साथ मिलकर समस्याओं का हल तलाशना होगा.


‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात गुरुवार को दलित संगठनों की तरफ से आयोजित एक धरना-प्रदर्शन के कार्यक्रम के दौरान कही. प्रधानमंत्री पर दलित समाज को हाशिये पर ले जाने के आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उन्होंने एक किताब में भी लिखा था कि किसी घर में जब कोई दलित सफाई का काम करता है तो इस तरह उसे आनंद की अनुभूति होती है.’ इसके साथ राहुल गांधी के सवालिया लहजे में कहा कि प्रधानमंत्री की जब ऐसी सोच है तो वे इस वर्ग के कल्याण के लिए क्या करेंगे? राहुल गांधी ने आगे कहा कि भाजपा शासन में एससी-एसटी एक्ट कमजोर हो रहा है, लेकिन अगले आम चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनती है तो इस एक्ट को कमजोर नहीं होने दिया जाएगा.


‘राष्ट्रीयता को लेकर लोगों के दावे और आपत्तियां आने के बाद एनआरसी के आंकड़े अपने आप बदल जाएंगे.’  

— हेमंत बिस्व शर्मा, असम के वित्त मंत्री

हिमंता बिस्व शर्मा का यह बयान नेशनल रजिस्टर आॅफ सिटिजंस (एनआरसी) की दूसरी सूची में असम के 40 लाख से भी ज्यादा लोगों को शामिल न किए जाने के मुद्दे पर आया है. उनका कहना है कि एनआरसी पर लोगों के दावे और आपत्तियां मांगे जाने की प्रक्रिया जल्दी ही शुरू की जाएगी और ऐसे में अब इस पर विवाद की कोई गुंजाइश नहीं है. उधर, विपक्षी दलों ने गुरुवार को इस मुद्दे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन सौंपा है. इसके जरिये देश के हर नागरिक को इस सूची में शामिल किए जाने की अपील की गई है.


‘अब हम सभी हरि भरोसे हैं’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात गुरुवार को हरिवंश नारायण सिंह के राज्यसभा का उप सभापति चुने जाने के बाद चुटकी लेते हुए कही. इस दौरान उन्हें बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि एक दैनिक समाचार पत्र के संपादक रहे हरिवंश नारायण सिंह को लेखन क्षमता का विशेष आशीर्वाद मिला हुआ है.


‘निवेशकों का पैसा डूबने से शर्मिंदगी और खुद को दोषी महसूस कर रहा हूं.’  

— नरेश गोयल, जेट एयरवेज के संस्थापक

नरेश गोयल ने यह बात गुरुवार को कंपनी की सालाना आम सभा में कही. उन्होंने यह भी कहा कि विमानन उद्योग में बढ़ती प्रतिस्पर्धा और तेल के बढ़ते दामों से कंपनी के शेयरधारकों को पैसा गंवाना पड़ा है. उनके मुताबिक इन विपरीत परिस्थितियों से उबरने के लिए जेट एयरवेज उड़ान परिचालन में एयर इंडिया का सहयोग लेने के लिए बातचीत कर रही है. इससे पहले बीते हफ्ते ऐसी खबरें आई थीं कि अगर जेट एयरवेज को जल्दी ही वित्तीय मदद न मिली तो अगले 60 दिनों में इस कंपनी को अपने विमानों का परिचालन बंद करना पड़ सकता है.