केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के प्रमुख आरएस शर्मा को सेवा विस्तार दिया है. वे अब सितंबर 2020 तक इस पद पर बने रहेंगे. शर्मा का कार्यकाल बढ़ाने का फैसला गुरुवार को ही हुआ है.

ख़बरों के मुताबिक सरकार ने इस बाबत अधिसूचना भी जारी कर दी है. इसके मुताबिक 30 सितंबर 2020 को 65 साल की उम्र पूरी होने तक शर्मा ट्राई के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे. वैसे उनका कार्यकाल इसी सप्ताह पूरा हो रहा था. यहां ध्यान रखा जा सकता है कि शर्मा अभी पिछले महीने ही आधार से जुड़े एक विवाद की वज़ह से सुर्ख़ियों में आए थे. उन्होंने जुलाई महीने के आख़िर में अपना आधार नंबर सार्वजनिक किया था. साथ ही हैकरों को चुनौती दी थी कि वे इसके जरिए उनकी निजी जानकारियों तक पहुंच कर दिखाएं.

शर्मा ने यह साबित करने के लिए इस तरह का जोख़िम भरा कदम उठाया था कि आधार पूरी तरह सुरक्षित है. लेकिन दिलचस्प बात ये रही कि अगले ही कुछ घंटों में एथिकल हैकर्स (वे लोग जो अच्छे मक़सद से किसी की भी ऑनलाइन जानकारियों काे हासिल करते हैं) ने उनके आधार से जुड़ी कुछ जानकारियां हासिल करने का दावा भी कर दिया. बल्कि बताया तो यह भी गया कि इन हैकर्स ने शर्मा के बैंक ख़ाते की जानकारी भी हासिल कर ली है. उन्होंने इस खाते में अपनी तरफ से एक रुपया जमा कराने का भी दावा किया था.