दिल्ली पुलिस ने मोती नगर इलाके में कांवड़ियों द्वारा एक कार पर हमला किए जाने के मामले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है. उसका नाम राहुल उर्फ बिल्ला (26) है और दिल्ली के उत्तम नगर इलाके में रहता है. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक राहुल का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड भी है. दिल्ली पुलिस के उपायुक्त (पश्चिम) विजय कुमार ने बताया कि राहुल पढ़ा-लिखा नहीं है और बेरोजगार है. उन्होंने बताया, ‘वह चोरी के एक मामले में जमानत पर बाहर है और छह-सात महीने जेल में बिता चुका है.’

खबर के मुताबिक गुरुवार को पुलिस राहुल के घर गई थी. शाम 6.30 बजे के आसपास उसे पड़ोस से गिरफ्तार किया गया. डीसीपी विजय कुमार ने बताया कि राहुल ने इस घटना से जुड़ी खबरें नहीं देखी थीं. उसे नहीं पता था कि पुलिस उसे ढूंढ रही है. विजय कुमार ने बताया, ‘वह हरिद्वार से गंगाजल लेकर निकला. रास्ते में वह कार के साथ तोड़-फोड़ कर रहे दूसरे कांवड़ियों के साथ शामिल हो गया. वीडियो में उसे साफ तौर पर डंडे से कार पर हमला करते देखा जा सकता है.’

पुलिस ने राहुल को आईपीसी की दंगा करने संबंधी धारा के तहत नामजद किया है ताकि उसे जमानत न मिल सके. पुलिस ने बताया कि राहुल कार से टकराए कांवड़िए को जानता भी नहीं था. घटना के समय वह कार के नजदीक था. जब कांवड़ियों ने कार पर हमला बोला तो वह भी उसमें शामिल हो गया.

बता दें कि बीते मंगलवार को मोती नगर में सड़क पर हुए एक छोटे से हादसे के बाद कांवड़ियों ने एक कार पर हमला बोल दिया था. कार को 25 साल की एक महिला चला रही थी. इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए थे. इनमें घटनास्थल पर पुलिस भी दिखाई दे रही थी. कांवड़ियों को रोकने की कोशिश न करने के लिए उसकी आलोचना हुई थी.