पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान में भारत के उच्यायुक्त अजय बिसारिया की आज मुलाकात होगी. द टाइम्स आॅफ इंडिया ने यह बात राजनीतिक सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर लिखी है. भारतीय उच्चायुक्त से होने वाली इस मुलाकात से पहले इमरान खान अमेरिका, रूस, ईरान, सऊदी अरब और ब्रिटेन के अलावा संयुक्त अरब अमीरात के राजदूतों के साथ भी मुलाकात कर चुके हैं.

बताया जाता है कि इस मुलाकात में भारत-पाकिस्तान के द्विपक्षीय रिश्तों को बातचीत के जरिये मजबूत करने और दोनों देशों के बीच आपसी विश्वास बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है. इसके अलावा जहां पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा मानवाधिकार के कथित उल्लंघन का मुद्दा उठा सकता है तो वहीं तरफ भारतीय राजदूत लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ इस्लामाबाद की तरफ से की जाने वाली कार्रवाई पर बात कर सकते हैं.

भारत-पाकिस्तान के आपसी रिश्तों में नवंबर 2008 के मुंबई आतंकी हमलों के बाद कड़वाहट घुल गई थी. फिर सितंबर 2016 में जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में स्थित सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद दोनों मुल्कों के रिश्तों में और ज्यादा तनाव आ गया. मौजूदा समय में भारत ने पाकिस्तान के साथ सिर्फ मानवीय संबंध बरकरार रखे हैं. इस दौरान पाकिस्तान ने मानवीय आधार पर 13 अगस्त को भारत के 30 कैदियों और मछुआरों की रिहाई की घोषणा की है जिसका भारत ने स्वागत किया है.

इससे पहले पाकिस्तान में हुए हाल के चुनाव में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के सबसे बड़े दल के तौर पर उभरने के बाद पार्टी अध्यक्ष इमरान खान ने भारत-पाक संबंधों की मजबूती पर जोर दिया था. तब उन्होंने यह भी कहा था कि भारत अगर पाकिस्तान की तरफ एक कदम बढ़ाएगा तो पाकिस्तान की तरफ से दो कदम बढ़ाए जाएंगे.