आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने मुंबई से हिंदूवादी संगठन ‘सनातन संस्था’ के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किया है. एएनआई के मुताबिक एटीएस ने उसके घर से आठ देशी बम बरामद किए हैं. आरोपित की पहचान वैभव राउत के रूप में हुई है. घर से कुछ दूर स्थित वैभव राउत की दुकान में सल्फर और डेटोनेटर भी मिले जिनसे 25-30 बम बनाए जा सकते हैं. विस्फोटकों को मुंबई की फारेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में जांच के लिए भेज दिया गया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक एक अधिकारी ने कहा, ‘हम जानना चाहते हैं कि ये विस्फोटक कहां से आए हैं और राउत इनका उपयोग कैसे करना चाहता था, इसलिए उससे पूछताछ जरूरी है.

सनातन संस्था का नाम नरेंद्र दाभोलकर, एमएम कलबुर्गी, गोविंद पानसरे और गौरी लंकेश की हत्या से भी जुड़ चुका है. इससे जुड़े लोगों को 2007 में वाशी, ठाणे, पनवेल और 2009 में गोवा में हुए धमाकों के मामले में भी गिरफ्तार किया गया था. इस संस्था की स्थापना 1999 में जयंत बालाजी अठावले ने की थी. इसके विदेश में भी आश्रम हैं. यह संस्था अध्यात्म, शिक्षा और धर्म के क्षेत्र में काम करती है.