गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही कर्नाटक पुलिस की विशेष जांच टीम ने इस मामले के एक और आरोपित को गिरफ्तार करने का दावा किया है. पीटीआई के मुताबिक 37 वर्षीय भारत कुर्ने को कर्नाटक के बेलगाम जिले से गिरफ्तार किया गया. वह एक ढाबा चलाता है. उसे मिलाकर इस मामले में गिरफ्तार आरोपितों की संख्या 12 हो चुकी है. इससे पहले 26 जुलाई को भी एक शख्स को गिरफ्तार किया गया था. उस पर गौरी लंकेश हत्याकांड के शूटर परशुराम वाघमारे को शरण देने का आरोप है.

खबरों के मुताबिक भारत कुर्ने अतिवादी हिंदू संगठन शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान का सक्रिय सदस्य है. खबरों के मुताबिक वह उन दो लोगों में शामिल था जो गौरी लंकेश की हत्या करने वाले दो शूटरों को सुरक्षित जगह पर लेकर गए थे. पुलिस के मुताबिक उसके पास तीन एकड़ जमीन भी है. इसमें एक शिविर चलता था जिसमें हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं को लड़ाई का प्रशिक्षण दिया जाता था. परशुराम वाघमारे सहित छह आरोपितों को यहीं ट्रेनिंग मिली थी. पुलिस ने भारत कुर्ने का कबूलनामा कोर्ट को सौंप दिया है.न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या बीते साल पांच सितंबर को उनके घर के बाहर कर दी गई थी. इसके बाद पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हुए थे. इस मामले में अब तक 11 लेगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इस मामले में बेंगलुरु की एक अदालत को सौंपी गई फॉरेंसिक रिपोर्ट में कहा गया था कि कन्नड़ लेखक एमएम कलबुर्गी और गौरी लंकेश की हत्या में एक ही बंदूक का इस्तेमाल किया गया था.