कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 13-14 अगस्त को तेलंगाना की उस्मानिया यूनिवर्सिटी की यात्रा पर जाना चाहते हैं. उनका वहां छात्र-छात्राओं से बातचीत करने का इरादा है. लेकिन उनके कार्यक्रम को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इजाज़त नहीं दी है. इससे विवाद पैदा हो गया है.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक यूनिवर्सिटी के छात्र संगठनों ने आरोप लगाया है कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने विश्वविद्यालय के कुलपति पर दबाव डाला है. इसीलिए उन्होंने राहुल गांधी के कार्यक्रम को इजाज़त देने से मना कर दिया है. इन संगठनों ने विश्वविद्यालय के कुलपति से मांग की है कि वे या तो राहुल गांधी के कार्यक्रम को इजाज़त दें या फिर अपने पद से इस्तीफ़ा दे दें. साथ इन छात्र नेताओं ने इस मसले को अदालत में ले जाने की चेतावनी भी दी है.

उधर यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार सी गोपाल रेड्‌डी ने कहा है कि राहुल गांधी को एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) की सुरक्षा मिली हुई है. जबकि विश्वविद्यालय परिसर में ऐसे इंतज़ाम नहीं हैं कि ऐसी किसी शख़्सियत को सुरक्षा दे सके. उन्होंने कहा कि अगर स्थानीय पुलिस और एसपीजी पूरी तरह से अपने ऊपर ही राहुल का सुरक्षा का जिम्मा लेती और यूनिवर्सिटी प्रशासन को आश्वस्त करती है तो उनके कार्यक्रम को इजाज़त दी भी जा सकती है. लेकिन सुरक्षा इंतज़ामों की समीक्षा के बाद.

उन्होंने कहा, ‘कुछ छात्र संगठन उनकी यात्रा का स्वागत कर रहे हैं. जबकि कुछ विरोध में हैं. ऐसे में उनकी यात्रा से यूनिवर्सिटी परिसर में अशांति फैल सकती है.’ वहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्‌डी ने इन दलीलों को ख़ारिज़ करते हुए कहा है, ‘यूनिवर्सिटी के छात्रों ने ही राहुल गांधी को आमंत्रित किया है. ऐसे में यह कहना गलत है कि कुछ छात्र संगठन उनकी यात्रा का विरोध कर रहे हैं. असल में प्रदेश में सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति के कुछ नेता ही ऐसा नहीं चाहते.