अब से आप लाइसेंस और आरसी जैसे प्रमुख दस्तावेजों की मूल प्रति साथ रखे बिना भी बेझिझक वाहन चला सकते हैं. शुक्रवार को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने निर्देश जारी कर कहा है कि अब से वाहन चालक लाइसेंस, आरसी और इंश्योरेंस से जुड़े दस्तावेजों की डिजिटल कॉपी का इस्तेमाल पुलिस द्वारा मांगे जाने पर कर सकते हैं. इस सुविधा के लिए आपको ‘डिजिलॉकर’ या ‘एमपरिवहन’ नाम के मोबाइल एप्लिकेशन को डाउनलोड करना जरूरी होगा जिसमें इन तमाम कागजात की डिजिटल कॉपी को सुरक्षित रखा जा सकता है.

इसके लिए आपको अपने आधार कार्ड समेत वाहन से जुड़े सभी दस्तावेजों के पहचान नंबर डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर जोड़ने होंगे. इसका एक फायदा यह भी है कि वाहन के जब्त होने की स्थिति में ई-चालान के जरिए कई तरह की असुविधाओं से बचा जा सकता है. कानूनी तौर पर इन कागजात की डिजिटल प्रति को मूल प्रति जितना ही वैध माना जाएगा. लेकिन इन एप्लीकेशन में मौजूद दस्तावेजों के पहचान नंबर के पुलिस के पास मौजूद नंबर से मेल नहीं खाने पाने पर इनकी मूल कॉपी दिखाना आवश्यक होगा.

विशेषज्ञों का कहना है कि सरकार ने यह कदम अपनी डिजिटल इंडिया मुहिम को बढ़ावा देने के लिए उठाया है. फिलहाल बिहार, मध्यप्रदेश और कर्नाटक की सरकारों ने इन निर्देशों को अपने यहां लागू कर दिया है.

होंडा ने अपनी तीन प्रमुख कारों के स्पेशल एडिशन लॉन्च किए

जापानी ऑटोमोबाइल कंपनी होंडा ने अपनी तीन प्रमुख कारों- होंडा सिटी, बीआर-वी और डब्ल्यूआर-वी के स्पेशल एडिशन लॉन्च कर दिए हैं. ये हैं ‘सिटी एज’, ‘डब्ल्यूआर-वी अलाइव’ और ‘बीआर-वी स्टाइल’. जानकारी के मुताबिक कंपनी ने इन सभी स्पेशल एडिशन में फीचर्स को अपग्रेड किया है. अपनी इस कवायद को लेकर होंडा का कहना है कि इन एडिशन के साथ वह फेस्टिवल सेल्स की शुरुआत कर रही है.

इनमें से यदि होंडा सिटी एज की बात करें तो इसमें 15 इंच डायमंड कट अलॉय व्हील्स और कैमरे के साथ रिवर्स पार्किंग सेंसर दिया गया है. इसके पेट्रोल वेरिएंट की कीमत 9.75 लाख रुपये और डीज़ल वेरिएंट की कीमत 11.10 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) से शुरू होती है.

उधर, होंडा डबल्यूआर-वी अलाइव में 16 इंच के डायमंड कट अलॉय व्हील, अलाइन एंबलम और आईआरवीएम डिस्प्ले के साथ रिवर्स कैमरा और पार्किंग सेंसर दिए गए हैं. इसके अलावा इसमें अलाइव एडिशन लोगो वाले प्रीमियर सीट कवर और प्रीमियम स्टीयरिंग व्हील कवर भी मिलते हैं. साथ ही इसमें ग्राहकों को एक महीने का होंडा कनेक्ट सब्सक्रिप्शन भी मुफ़्त मिलेगा. इसके पेट्रोल वेरिएंट की कीमत 8,02,500 रुपये और डीज़ल वेरिएंट की कीमत 9,11,500 रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) है.

होंडा बीआर-वी स्टाइल एडिशन में स्पेशल एडिशन एंबलम, फ्रंट गार्ड, टेलगेट स्पॉयलर, बॉडी साइड मोल्डिंग के साथ फ्रंट और रियर बंपर प्रोटेक्टर दिया गया है. इसकी कीमत 10.44 लाख रुपये से शुरू होकर 13.74 लाख रुपये (एक्स शोरूम दिल्ली) तक जाती है.

टाटा नेक्सन को एनसीएपी ने चार स्टार दिए

एक साल से भी कम समय में बाजार में अपनी खास जगह बना चुकी टाटा नेक्सन को ग्लोबल न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (एनसीएपी) ने क्रैश टेस्ट में 4-स्टार रेटिंग दी है. एनसीएपी को वैश्विक स्तर पर नई कारों के लिए सुरक्षा मानक तय करने के लिए पहचाना जाता है. ऐसे में नेक्सन के लिए एनसीएपी की तरफ से 4-स्टार रेटिंग मिलना एक एक बड़ी उपलब्धि मानी जा सकती है. एनसीएपी ने बच्चों की सुरक्षा के मामले में इस कार को 3-स्टार रेटिंग दी है. टाटा मोटर्स का दावा है कि यह रेटिंग हासिल करने वाली नेक्सन देश की पहली कॉम्पैक्ट एसयूवी है.

Play

एनसीएपी ने ग्लोबल नियमों के मुताबिक इस कार को 64 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार से दीवार से टकराया था. इस टेस्ट में एनसीएपी ने पाया कि दुर्घटना की स्थिति में नेक्सन के ड्राइवर और सवारी का सिर, छाती और गर्दन काफी हद तक सुरक्षित रहते हैं. इसके अलावा नेक्सन उन चंद कारों में शुमार है जिनमें बच्चों के लिए आईसोफिक्स सीट माउंट दिया गया है. वहीं कार की बॉडी को स्टेबल रेटिंग दी गई है.

गौरतलब है कि टाटा मोटर्स ने लंबे समय तक कार बाजार में पिछड़ने के बाद न सिर्फ अपनी गाड़ियों के लुक्स और परफॉर्मेंस बल्कि सुरक्षा मानकों में खासा सुधार किया है. नेक्सन द्वारा इस उपलब्धि को हासिल करने के मौके पर इंस्टिट्यूट ऑफ रोड ट्रेफिक एड्युकेशन (आईआरटीई) के अध्यक्ष डॉ रोहित बलुजा का कहना था, ‘यह दिखाता है कि मेड इन इंडिया कारों में भी सुरक्षा मानकों के उच्च स्तर पाए जा सकते हैं. टाटा मोटर्स के इस दिशा में शानदार प्रयासों के चलते हम देश की अन्य कारों में भी सुरक्षा के बेहतरीन स्तरों को देख सकेंगे. यह निश्चित तौर पर हमारी सड़कों को सुरक्षित बनाने में हमारी मदद करेगा.’

बता दें कि नेक्सन से पहले टाटा की ही सेडान ज़ेस्ट ने भी नवंबर-2016 में सुरक्षा के मामले में 4-स्टार रेटिंग हासिल की थी. अन्य कंपनियों की बात करें तो टोयोटा इटियोस और फॉक्सवैगन पोलो के भारतीय मॉडलों को भी सुरक्षा के मामले में इतनी ही रेटिंग दी गई थी.