एयरो इंडिया शो आयोजित करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने औपचारिक तौर पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने दावेदारी पेश कर दी है. मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने रक्षा मंत्री से आग्रह किया है कि इस बार यह आयोजन बेंगलुरू, कर्नाटक के बजाय लखनऊ, उत्तर प्रदेश में किया जाए.

अलीगढ़ में रक्षा गलियारे (डिफेंस कॉरीडोर) से जुड़ी परियोजनाओं के उद्घाटन के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘हमने रक्षा मंत्री से इस बाबत जल्द से जल्द घोषणा करने के लिए कहा है. जिससे हम समय पर तैयारियां शुरू कर सकें. हम इस आयोजन के लिए सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराने को तैयार हैं.’ हालांकि अब तक रक्षा मंत्री ने कोई घोषणा नहीं की है. लेकिन दूसरी तरफ इस आयोजन को बेंगलुरू से बाहर ले जाने का भारतीय जनता पार्टी के ही कुछ सांसदों ने भी विरोध कर दिया है.

कर्नाटक से भाजपा के राज्य सभा सदस्यों- पीसी मोहन और राजीव चंद्रशेखर इस संबंध में रक्षा मंत्री को पत्र लिखने वाले हैं. कर्नाटक से ताल्लुक़ रखने वाले दो केंद्रीय मंत्री भी इसमें शामिल हैं. मोहन ने द न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में इसकी पुष्टि की है. इससे पहले कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव और राज्य के उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वरा भी इस तरह की किसी संभावित कोशिश पर अपनी आपत्ति जता चुके हैं. इनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया भी विरोध करने वालों में शामिल हो चुके हैं.

एयरो इंडिया शो का आयोजन हर दो साल बाद होता है. अब तक बेंगलुरू में ही यह आयोजन होता रहा है. यह आयोजन 1996 से शुरू हुआ था. वहीं इस बाबत कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के कार्यालय की ओर से कहा गया है, ‘रक्षा मंत्री ने इस आयोजन को बेंगलुरू से बाहर कराने का संकेत नहीं दिया है. बल्कि हाल में ही बेंगलुरू की यात्रा के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री से स्पष्ट किया कि ऐसा कोई प्रस्ताव भी नहीं है. लिहाज़ा मुख्यमंत्री तभी इस पर प्रतिक्रिया देंगे जब कोई घोषणा हो जाएगी.’