पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है. गुरुवार को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके निधन से देश भर में शोक का माहौल है.

2004 में भाजपा के केंद्र की सत्ता से बाहर होने के बाद अटल बिहारी वाजपेयी ने सक्रिय राजनीति छोड़ दी थी. इस अनपेक्षित हार ने उन्हें काफी निराश कर दिया था. उसी साल मुंबई में हुई एक बैठक में जब वे पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे तो नारा लगा, ‘अगली बारी अटल बिहारी...’ इतना सुनते ही वाजपेयी मराठी में बोल उठे, ‘अता नको, पुष्कल झाल’. यानी ‘अब नहीं, बहुत हो गया’.

इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी धीरे-धीरे सार्वजनिक जीवन से भी दूर होते गए. उनका दिखना दुर्लभ होता गया. यह वीडियो 2007 का है जब वे दिल्ली में आयोजित एक कला प्रदर्शनी में पहुंचे थे. इस प्रदर्शनी के बारे में बोलने के बाद आखिर में उन्होंने एक कविता भी पढ़ी. इसमें पूर्व प्रधानमंत्री की उदासी और श्रोताओं को बांध लेने की उनकी क्षमता के एक बार फिर दर्शन हुए.

Play