देश की प्रमुख कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़ुकी ने इस सप्ताह अपनी लोकप्रिय सेडान ‘डिज़ायर’ का स्पेशल एडिशन लॉन्च किया है. कंपनी ने यह एडिशन डिज़ायर के एंट्री लेवल ट्रिम ‘एलएक्सआई’ और ‘एलडीआई’ के साथ उपलब्ध करवाया है. डिज़ायर-2018 एडिशन की खूबियों की बात करें तो इसमें आपको स्टैंडर्ड फ्रंट पॉवर विंडोज, व्हील कवर्स और रियर सेंसर्स मिलते हैं. इसके अलावा इसमें दो स्पीकर वाला ब्लूटूथ इनेबल्ड म्यूज़िक सिस्टम और रिमोट सेंट्रल लॉकिंग जैसे फीचर्स भी इसे पहले से ज्यादा सहूलियत भरा बनाते हैं.

यदि डिज़ायर-2018 की अन्य ख़ूबियों की बात करें तो इसमें आपको सुरक्षा के लिहाज से एबीएस और ब्रेक असिस्ट के साथ डुअल फ्रंट एयरबैग्स जैसे महत्वपूर्ण फीचर मिलते हैं. जानकारों का कहना है कि अपने लोअर ट्रिम मॉडल को अपग्रेड करने का फैसला मारुति ने इसी सेगमेंट की टाटा टिगोर, नई होंडा अमेज़, ह्यंडुई एक्सेंट और फॉक्सवैगन एमिओ जैसी कारों से प्रभावित होकर लिया है. विशेषज्ञों के मुताबिक फेस्टिव सीज़न से पहले यह नया एडिशन पेश कर मारुति-सुज़की अपने एंट्री लेवल ट्रिम्स की तरफ उन ग्राहकों को आकर्षित करना चाहती है जो कम कीमतों में एक बेहतर कॉम्पैक्ट सेडान की तलाश में हैं.

परफॉर्मेंस के मामले में इस कार के पेट्रोल वेरिएंट में 1.2-लीटर का पेट्रोल इंजन मिलता है जो 82 बीएचपी की अधिकतम पॉवर पैदा करता है, वहीं कार के डीज़ल वेरिएंट में 1.3-लीटर का इंजन है जो 74 बीचपी पॉवर उत्पन्न करने में सक्षम है. कंपनी ने कार के इंजन को 5-स्पीड मैनुअल और एएमटी ट्रांसमिशन से लैस किया है. बता दें कि मारुति-सुज़की डिज़ायर देश की सबसे ज़्यादा माइलेज देने वाली सेडान कारों में शीर्ष पर है. कंपनी का दावा है कि डिज़ायर का पेट्रोल वेरिएंट 22 किमी/लीटर और डीज़ल वेरिएंट 28.40 किमी/लीटर माइलेज देने में सक्षम है.

कंपनी ने डिज़ायर-2018 के लिए मौजूदा एलएक्सआई/एलडीआई मॉडल की तुलना में करीब 30 हजार रुपए ज्यादा कीमत तय की है. डिज़ायर-2018 की बात करें तो इसके पेट्रोल वेरिएंट के लिए आपको 5.56 लाख रुपए (एक्सशोरूम कीमत) तो वहीं डीज़ल के लिए करीब 6.50 लाख रुपए चुकाने होंगे. प्रतिमाह बीस हजार यूनिटों की बिक्री के साथ मारुति-सुज़की डिज़ायर देश की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार है.

रुपए में गिरावट के चलते गाड़ियों के दामों में बढ़ोतरी

डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपए में ज़ारी गिरावट असर देश के ऑटोमोबाइल सेक्टर में भी दिखने लगा है. विदेशों से आयात होने वाली वस्तुओं, आयात कर और कच्चे माल की कीमतों में बढ़ोतरी होने की वजह से देश की प्रमुख वाहन निर्माता कंपनियों ने अपने उत्पादों के दामों को बढ़ाने का फैसला लिया है. ऑटोमोबाइल कंपनियों ने इस बढ़ोतरी के पीछे पेट्रोल और डीज़ल की आसमान छूती कीमतों की वजह से मालभाड़े की बढ़ती दरों का भी हवाला दिया है.

यदि देश की प्रमुख कार निर्माता कंपनी मारुति-सुज़की की बात करें तो उसने अपनी कारों की कीमतों में 6100 रुपए की अधिकतम बढ़ोतरी की है जो अलग-अलग मॉडल्स के हिसाब से बदलती है. देश की अन्य प्रमुख वाहन निर्माता कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा ने भी अपने वाहनों के दामों में दो फीसदी तक बढ़ोतरी करने का फैसला लिया है. वहीं टाटा मोटर्स ने अगस्त से अपने पैसेंजर वाहनों की कीमतों में 2.2 फीसदी की वृद्धि कर दी है. इससे पहले दक्षिण कोरियाई कंपनी ह्युंडई ने अगस्त से अपनी लोकप्रिय हैचबैक ग्रांड आई-10 की कीमतें बढ़ाने का ऐलान किया था. वहीं होंडा ने भी अपनी सभी कारों की कीमतों में 10 से 35 हजार रुपये की बढ़ोतरी की है.

क्रूज़र बाइक ‘इंडियन चीफटेन रेंज’ का टॉप मॉडल ‘एलीट’ भारत में लॉन्च

क्रूज़र बाइक्स बनाने के लिए पहचानी जाने वाली अमेरिकन कंपनी ‘इंडियन’ ने अपनी बाइक चीफटेन रेंज का टॉप मॉडल ‘एलीट’ भारत में लॉन्च कर दिया है. यह कंपनी की भारत में दूसरी लिमिटेड एडिशन मोटरसाइकल है. दुनियाभर में बिकने के लिए इस बाइक की 350 यूनिट ही तैयार की गई हैं. इनकी खासियत है कि खुद पर हुए अलग-अलग रंग के मार्बल पेंट की वजह से ये सभी बाइक एक दूसरे जुदा दिखेंगी. कंपनी का दावा है कि प्रत्येक बाइक पर पेंट के इसी हिस्से पर काम करने में करीब 25 घंटे का समय लगता है.

चीफटेन रेंज एलीट में मौजूदा मॉडल की तुलना में फीचर्स और लुक्स के लिहाज से कई खास बदलाव देखने को मिले हैं. इनमें बेस्पोक पेंट जॉब, कस्टम लैदर सीट, एडिशनल इक्विपमेंट जैसी खूबियां शामिल हैं. इसके अलावा इस शानदार मोटरसाइकल के साथ राइड कमांड इंफोटेनमेंट सिस्टम मिलता है जिसमें ब्ल्यूटूथ कनेक्टिविटी, नेविएगेशन और 200 वाट का प्रीमियम ऑडियो सिस्टम लगाया गया है. साथ ही बाइक के साथ दिए गए एल्युमिनियम फ्लोरबोर्ड्स इसके लुक को आकर्षक बनाते हैं.

बाइक के अगले हिस्से में लगे टेलिस्कोपिक और पिछले हिस्से में मोनोशॉक सस्पेंशन इसकी राइड को खासा आरामदायक बनात हैं. चीफटेन रेंज-2018 के फ्रंट व्हील में दिया गया ट्विन 300 एमएम और रियर व्हील का सिंगल 300 एमएम डिस्क ब्रेक, तेज रफ़्तार में इस बाइक पर बेहतर नियंत्रण बनाए रखने में खासा मददगार साबित होता है. परफॉर्मेंस के लिहाज से देखें तो इंडियन ने चीफटेन एलीट में स्टैंडर्ड चीफटेन रेंज वाला 1811सीसी की क्षमता का थंडरस्ट्रोक 111 वी-ट्विन इंजन लगाया है जो 3000 आरपीएम पर 161.6 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. भारत में यह मोटरसाइकल हार्ले-डेविडसन की स्ट्रीट ग्लाइट और होंडा की गोल्ड विंग जैसी बाइकों को कड़ी टक्कर दे सकती है. चीफटेन रेंज एलीट के लिए कंपनी ने 48 लाख रुपए की (एक्सशोरूम) कीमत तय की है.