उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राम मंदिर के मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर कोई विकल्प नहीं बचा तो केंद्र सरकार कानून बना कर राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ कर सकती है.

दरअसल राम मंदिर को लेकर हिंदू साधु-संतों की यह मांग बढ़ती जा रही है कि सरकार कानून के जरिए मंदिर निर्माण की इजाजत दे. इस पर इंडिया टुडे को दिए बयान में केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है और सुनवाइयां हो रही हैं. हमें उम्मीद है कि जल्दी ही इस बारे में कोई फैसला आएगा. हम अभी संसद में कानून नहीं ला सकते क्योंकि राज्यसभा में इसे पास कराने में दिक्कत होगी. हालांकि अगर कोई विकल्प नहीं बचा तो हम संसद में कानून लाने पर विचार कर सकते हैं.’

केशव प्रसाद मौर्य ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बार-बार उत्तर प्रदेश आने पर सवाल करने वाले विपक्ष पर भी हमला किया. उन्होंने कहा, ‘मोदी वाराणसी से सांसद हैं जो उत्तर प्रदेश में है. वे राज्य के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं, इसलिए यहां आ रहे हैं. वे आगे भी और विकास योजनाओं के उद्घाटन के लिए आते रहेंगे.’ उन्होंने यह भी बताया कि पार्टी के नेता हरेक बूथ पर अपना आधार मजबूत करने के लिए मेहनत कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘हमारा उद्देश्य हरेक बूथ पर 51 प्रतिशत वोट हासिल करना है. हम केंद्र और राज्य सरकार के कार्यों को लेकर समाज के हरेक वर्ग के लोगों तक पहुंच रहे हैं.’