शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) ने आगामी लोक सभा चुनाव के पहले बड़ा ऐलान किया है. अकाली दल प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी आगामी लोक सभा चुनाव में हरियाणा की सभी 10 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. साथ ही विधानसभा की सभी 90 सीटों पर भी वह अकेले ही चुनाव लड़ने जा रही है. दोनों ही चुनाव अगले साल यानी 2019 में होने वाले हैं. सुखबीर सिंह ने कुरुक्षेत्र में पार्टी की एक रैली को संबोधित करते हुए यह बयान दिया है.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक रैली में बादल का यह भी कहना था कि उनकी पार्टी हरियाणा में एक बड़ी ताकत है, लेकिन इसके बावजूद सिखों को यहां की राजनीति में उतनी तवज्जो नहीं मिल पाई है. उन्होंने इसके लिए सिखों में एकता की कमी को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि राजनीतिक पार्टियों ने इस कमी का हमेशा फायदा उठाया है. बादल ने लोगों को संबोधित करते हुए आगे कहा, ‘अगर आप शिरोमणि अकाली दल के बैनर तले एकजुट होते हैं, तो कोई ऐसी ताकत नहीं है जो हमें हरियाणा की सत्ता में आने से रोक सके.’

अपने भाषण के दौरान बादल ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक ‘सिख विरोधी’ पार्टी है. 1984 के सिख विरोधी दंगे और ऑपरेशन ब्लूस्टार का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ये दोनों ही घटनाएं यह साबित करने के लिए काफी हैं कि कांग्रेस ने सिखों को हमेशा निशाना बनाया है. यह भी दिलचस्प बात है कि बादल ने अपने भाषण में कहीं भी भाजपा को निशाना नहीं बनाया. अब तक अकाली दल और भाजपा साथ-साथ चुनाव लड़ते रहे हैं. पंजाब में पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में भी दोनों पार्टियां साथ ही चुनाव लड़ी थीं लेकिन कांग्रेस से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.