पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की मुंबई स्थित ब्राडी हाउस शाखा में एक और घोटाला उजागर हुआ है. यह वही शाखा है जो हीरे-जवाहरात के कारोबारी नीरव मोदी को साल-दर-साल करोड़ों रुपए का कर्ज़ देती रही और जिसे चुकाए बिना ही वह देश छोड़कर भाग गया. फिलहाल वह लंदन में रह रहा है.

बहरहाल की डीएनए की ख़बर के मुताबिक पीएनबी ब्राडी हाउस शाखा में सामने आया ताजा घाेटाला 9.48 करोड़ रुपए का है. इस मामले में सीबीआई (केंद्रीय जांच ब्यूरो) ने पीएनबी के अज्ञात अधिकारियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज़ कर जांच शुरू कर दी है. बताया जाता है कि यह कर्ज़ विज़न मशीन प्राइवेट लिमिटेड (वीएमपीएल) नाम की कंपनी को दिया गया था. यह मुंबई के बांद्रा में स्थित है. सीबीआई ने इस कंपनी के निदेशकों- मनीष सोनी और कुलदीप वर्मा तथा उनके दो गारंटरों को भी आरोपित बनाया है.

ख़बर के मुताबिक पीएनबी की ब्राडी हाउस शाखा के ही सहायक महाप्रबंधक दिनेश भारद्वाज ने यह शिकायत दर्ज़ कराई है. इसमें बताया गया है कि वीएमपीएल को बैंक ने जो कर्ज़ दिया था उसे चुकाने में कंपनी नाक़ाम रही. इसके बाद फरवरी-2015 में उसे दिया गया कर्ज़ बट्‌टे खाते (एनपीए यानी जिस कर्ज़ के वापस मिलने की उम्मीद न हो) में डाल दिया गया. शिकायत के अनुसार कंपनी ने कर्ज़ लेने के लिए फर्ज़ी दस्तावेज़ और संपत्ति आदि से संबंधित झूठी जानकारियों का सहारा भी लिया था.