सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत का बताया जा रहा एक वीडियो बहुत तेज़ी से वायरल हो रहा है. इसमें उन्हें बांसुरी की धुन पर ‘ऐ मेरे वतन के लोगो’ गाना बजाते देखा जा सकता है.

इस वीडियो को अलग-अलग प्रोफ़ाइलों से शेयर किया जा रहा है. फ़ेसबुक और ट्विटर पर बड़ी संख्या में लोग मोहन भागवत की जम कर प्रशंसा कर रहे हैं. प्रशंसा होनी भी चाहिए क्योंकि बहुत अच्छी बांसुरी बजाई जा रही है.

लेकिन, क्या बांसुरी बजा रहे व्यक्ति सच में मोहन भागवत ही हैं? हमने सर्च किया तो पता चला कि ये बुज़ुर्ग व्यक्ति आरएसएस के ही सदस्य हैं. लेकिन ये मोहन भागवत नहीं हैं. इनका नाम है अनिल ओक. कुछ ही दिन पहले 15 अगस्त के मौक़े पर उन्होंने एक कार्यक्रम में बांसुरी बजा कर अपने वाद्य कौशल का प्रदर्शन किया था.

Play

यूट्यूब पर कुछ लोगों ने अनिल ओक का यह वीडियो शेयर किया है. हमें क़रीब एक साल पुराना एक और वीडियो मिला जिसमें अनिल ओक को बांसुरी बजाते देखा जा सकता है. आप गूगल पर ‘अनिल ओक’ लिखें और भी वीडियो मिलेंगे. यानी सोशल मीडिया पर मोहन भागवत के बांसुरी बजाने का यह दावा झूठा है.

Play